Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / के सी आर फ़ैमिली पर तेलंगाना अवाम के इस्तिहसाल का इल्ज़ाम

के सी आर फ़ैमिली पर तेलंगाना अवाम के इस्तिहसाल का इल्ज़ाम

हैदराबाद।27 दिसमबर: तेलंगाना राष़्ट्रा समीती के चन्द्र शेखर राव‌, के टी आर, के कवीता और हरीश राव‌ अपने सयासी कारोबार को बचाने के लए तेलंगाना अवाम का इस्तिहसाल कररहे हैं।

हैदराबाद।27 दिसमबर: तेलंगाना राष़्ट्रा समीती के चन्द्र शेखर राव‌, के टी आर, के कवीता और हरीश राव‌ अपने सयासी कारोबार को बचाने के लए तेलंगाना अवाम का इस्तिहसाल कररहे हैं।

इन क़ाइदीन को मसला तेलंगाना से कोई दिलचस्पी नहीं है और ये क़ाइदीन तेलंगाना अवाम की फ़लाह-ओ-बहबूद से मुताल्लिक़ संजीदा नहीं हैं।

सदर तेलगुदेशम एन चंद्रा बाबू नायडू ने आज ज़राए इबलाग़ के नुमाइंदों से बातचीत के दौरान ये बात कही। उन्हों ने बताया कि तेलगुदेशम पार्टी अलहदा रियासत की तशकील की मुख़ालिफ़ नहीं है लेकिन अलहदा रियासत की तशकील तेलगुदेशम के हाथ में नहीं है और ना ही तेलगुदेशम तेलंगाना तशकील देने के मौक़िफ़ है।

सदर तेलगुदेशम ने बताया कि हुकूमत ने जो तर्ज़ अमल इख़तियार किया है वो गुमराह कुन है। नायडू ने बताया कि तेलगुदेशम पार्टी ने अलहदा रियासत की तशकील के मुआमले में अपना मौक़िफ़ 2008 में ही वाज़िह कर दिया है।

उन्हों ने बताया कि पार्टी ने उस वक़्त परनब मुकर्जी कमेटी को तेलंगाना की हिमायत में मकतूब हवाला कर दिया है और अब तक इस से दसतबरदारी इख़तियार नहीं की गई है।

एन चंद्रा बाबू नायडू ने कांग्रेस से मुतालिबा किया कि पहले कांग्रेस रियासत की तक़सीम के मुताल्लिक़ अपना मौक़िफ़ वाज़िह करे चूँकि वो रियासत के साथ साथ मर्कज़ में भी बरसर-ए-इक्तदार है लेकिन ताहाल कांग्रेस का मौक़िफ़ अब तक भी ग़ैर वाज़िह है।

उन्हों ने बताया कि तेलगुदेशम पार्टी ने कभी अलहदा रियासत तेलंगाना की मुख़ालिफ़त नहीं की और ना ही कभी रुकावट पैदा करने की कोशिश की गई।

नायडू ने बताया कि तेलगुदेशम दौर-ए-हकूमत में रियासत की मिसाली तरक़्क़ी को यक़ीनी बनाया गया और इलाके तेलंगाना की तरक़्क़ी का भी ख़ुसूसी ख़्याल रखा गया।

हैदराबाद की तरक़्क़ी के ज़रीये हैदराबाद को आलमी सतह पर नुमायां मुक़ाम दिलवाया गया जिस के ज़रीये लाखों करोड़ों रुपये की सरमाया कारी हैदराबाद में हुई और बैन-उल-अक़वामी कंपनीयों ने हैदराबाद का रुख़ करते हुए लाखों नौजवानों को मुलाज़मतें फ़राहम की जिस के नतीजे में हैदराबाद से बेरोज़गारी का बड़ी हद तक ख़ातमा हुआ, लेकिन कांग्रेस ने इक़तिदार सँभालने के बाद ये हालात पैदा किए जिस के सबब तरक़्क़ीयाती अमल ठप होगया

TOPPOPULARRECENT