Wednesday , August 23 2017
Home / Sports / कोच की नियुक्ति को लेकर दुविधा की स्थिति जारी, साक्षात्कार के बाद शास्त्री व सहवाग में जंग

कोच की नियुक्ति को लेकर दुविधा की स्थिति जारी, साक्षात्कार के बाद शास्त्री व सहवाग में जंग

मुंबई : भारत के अगले कोच की नियुक्ति को लेकर दुविधा की स्थिति जारी रही जब क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने नियुक्ति को फिलहाल रोकने का फैसला किया और कप्तान विराट कोहली को स्पष्ट संदेश दिया कि वह समझें कि ‘कोच कैसे काम करते हैं. ‘
तीन सदस्यीय सीएसी की ओर से पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने कहा कि समिति जल्दबाजी में नहीं है और स्पष्ट किया कि कोहली को पेशेवर कोचिंग से जुड़े पक्षों को समझना होगा.

इधर सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार एडवायजरी कमेटी का मानना है कि शास्‍त्री सिर्फ एक मोटिनेशनल मेंटर हैं और कोहली के यस में यस करते हैं. जिससे क्रिकेट का विकास नहीं हो सकता है.

सीएससी ने कुंबले और कप्‍तान विराट कोहली के बीच विवाद को गंभीरता के साथ लिया है. गांगुली ने कहा, ‘ ‘कोच कैसे काम करते हैं, विराट को यह समझने की जरुरत है. साथ ही आपको कोहली को श्रेय देना होगा कि वह कोच चयन प्रक्रिया से दूर रहे. जब वह वेस्टइंडीज से वापस आयेगा तो हम उससे विस्तृत बात करेंगे. ‘ गांगुली के साथ समिति के सदस्य वीवीएस लक्ष्मण और संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी भी मौजूद थे. पूर्व भारतीय कप्तान गांगुली का यह संदेश स्पष्ट है कि सीएसी ने कोहली और अनिल कुंबले के बीच मतभेद की स्थिति को गंभीरता से लिया है जिसके बाद कोच को पद छोड़ना पड़ा.

साक्षात्‍कार के बाद वीरेंद्र सहवाग शास्‍त्री को पछाड़कर आगे निकल गये हैं. सीएसी ने पांच उम्मीदवारों रवि शास्त्री, वीरेंद्र सहवाग, टाम मूडी, रिचर्ड पाइबस और लालचंद राजपूत का साक्षात्कार लिया जिसमें सिर्फ सहवाग ही बीसीसीआई मुख्यालय में निजी तौर पर पहुंचे. नियुक्ति की घोषणा नहीं करना स्पष्ट संकेत हैं कि शास्त्री इस शीर्ष पद के लिए अब प्रबल दावेदार नहीं रहे जैसा कि पहले माना जा रहा था. सहवाग का साक्षात्कार दो घंटे चला.

TOPPOPULARRECENT