Saturday , October 21 2017
Home / Bihar News / कोबरा के गार्डो के ठिकानों पर छापे

कोबरा के गार्डो के ठिकानों पर छापे

पटना/गया १२ जुलाई : बोधगया धमाके की तहकीकात में जुटी कौमी तहकीकात एजेंसी (एनआइए) ने प्रायवेट सिक्यूरिटी एजेंसी कोबरा सेंटिनल प्राइवेट लि के 14 गार्डो के ठिकानों पर छापेमारी की है। उनके अहले खाना से पूछताछ भी की गयी है।

पटना/गया १२ जुलाई : बोधगया धमाके की तहकीकात में जुटी कौमी तहकीकात एजेंसी (एनआइए) ने प्रायवेट सिक्यूरिटी एजेंसी कोबरा सेंटिनल प्राइवेट लि के 14 गार्डो के ठिकानों पर छापेमारी की है। उनके अहले खाना से पूछताछ भी की गयी है।

इतना ही नहीं, इन गार्डो के बैंक खाते भी खंगाले जा रहे हैं। हाल के दिनों में उनके तरफ से की गयी खरीदारी की जानकारियां भी जमा की जा रही हैं। तहकीकात टीम लगाने की कोशिश कर रही है कि हाल के दिनों में कोई जवान कहीं किसी बड़ी रक़म का इन्वेस्ट किया है या नहीं। एनआइए जराए के मुताबिक, कोबरा के डायरेक्टर सुजय सौरभ से भी पूछताछ की गयी है। उनके राब्ता को खंगाला जा रहा है।

जुमेरात को एनआइए की टीम ने में कोबरा के फील्ड ऑफिसर ललन मिश्र समेत कंपनी के 16 गार्डो से पूछताछ की। अलग-अलग नुक्तों पर। एनआइए इस बात का भी पता लगाने में जुटी है कि कोबरा के गार्डो से सुबह पांच से रात नौ बजे तक ही डयूटी क्यों ली जाती थी? जबकि बोधगया मंदिर इंतेजामिया कमेटी (बीटीएमसी) ने कोबरा के साथ 24 घंटे की ड्यूटी का एग्रीमेंट किया था। यह बात एनआइए की टीम को हजम नहीं हो रही है। एनआइए यह जानने की कोशिश कर रही है कि इसके पीछे कहीं कोई दूसरा राज तो नहीं है?

नौ मार्च, 2013 को बीटीएमसी की बैठक में कोबरा के साथ पहले के करार को एक साल के लिए तौशिह करने का फैसला किया गया था। इसके बाद एक अप्रैल, 2013 को कोबरा से करार किया गया। इसके मुताबिक, कोबरा को महाबोधि मंदिर, बीटीएमसी दफ्तर और कालचक्र मैदान में 24 घंटे सिक्यूरिटी फराहम करानी थी। लेकिन, मंदिर अहाते में ड्यूटी 16-8 घंटे के बुनियाद पर अलग-अलग की जाती थी।

सुबह पांच से रात नौ बजे तक कोबरा के गार्ड तैनात रहते थे, जबकि रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक बीटीएमसी के गार्ड ड्यूटी पर होते थे। पांच से छह बजे के बीच ड्यूटी बदलने के चक्कर में हुई चूक के वजह मंदिर की सिक्यूरिटी नेजाम में सेंध लगाने में दहशतगर्दों को कामयाबी मिल गयी। दहशतगर्दों ने 30 से 45 मिनट के दरमियान 13 मुकामों पर बम बड़े ही आसानी से प्लांट कर दिये।

TOPPOPULARRECENT