Wednesday , July 26 2017
Home / Assam / West Bengal / कोलकाता ‘नाखुदा मस्जिद’ के इमाम की अपील ‘मुसलमान सय्यम से काम लें’

कोलकाता ‘नाखुदा मस्जिद’ के इमाम की अपील ‘मुसलमान सय्यम से काम लें’

अब्दुल हमीद अंसारी, कोलकाता। पश्चिम बंगाल में रामनवमी के बहाने आरएसएस ने माहौल को बिगाड़ने की पुरजोर कोशिश की है। रामनवमी के अवसर पर पश्चिम बंगाल में लगभग 150 कार्यक्रम और रैलियां की गई। इस रैली को विश्व हिन्दू परिषद् और बीजेपी का समर्थन हासिल था। खबरों की माने तो भारी संख्या में हथियारों के साथ जगह जगह रैलियां निकाली गई। इन रैलियों में से बिगड़ते हालात को देखकर ममता सरकार ने प्रशासन को अलर्ट कर दिया है।

कोलकाता के खिदिरपुर समेत कुछ इलाकों में छिटपुट घटना के बाद तनाव बढ़ने की खबर है। इन घटनाओं के बाद सियासत हिंदी के नुमाइंदे ने नाखुदा मस्जिद के इमाम कारी मोहम्मद शफीक़ से बात की है। उन्होंने ने पश्चिम बंगाल के सभी मुसलमानों से अपील की है कि वह किसी भी अफवाहों पर ध्यान ना दें, हर हाल में प्रशासन का साथ दें। किसी भी तरह की असमाजिक तत्वों से निपटने के लिए सय्यम से काम लें।

उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी की सरकार हमारी सुरक्षा और आपसी सद्भावना को कायम रखने के लिए बेहतरीन कोशिश कर रही हैं। कारी शफीक़ ने मुसलमानों से कहा है कि वो आपसी भाई चारों को मजबूत बनाने का काम करें। हिन्दू धर्म के मानने वालों की तरफ़ ज्यादा से ज्यादा प्यार और मोहब्बत बढ़ाई जाये। मालूम हो कि पश्चिम बंगाल में मुसलमानों की भारी तादाद हैं।

मुस्लिम समुदाय के लोगों का मानना है कि हम यहां हिन्दू मुस्लिम सालों से मिलकर रहते हैं और यहां अनेक वर्षों से कोई फसाद नहीं हुआ है। मालूम हो कि पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा सबसे बड़ा त्योहार है। रामनवमी के बहाने यहां की माहौल को बिगाड़ने की कोशिश की गई है।

इससे पहले राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि बीजेपी सिर्फ़ दंगो की राजनीति करती है। आपसी भाई चारों को खत्म करके सत्ता तक पहुंचने की कोशिश करती है। ममता बनर्जी ने यह चेतावनी दी है कि पश्चिम बंगाल में दंगो की राजनीति नही चलने देगी।

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश में जबरदस्त बहुमत के बाद बीजेपी ने अगला टार्गेट पश्चिम बंगाल को बनाया है। भगवा रणनीति के तहत पश्चिम बंगाल में की राजनीति में आना चाहती है।

TOPPOPULARRECENT