Tuesday , October 17 2017
Home / Crime / कोलार में सरकारी रक़ूमात बेजा स्तेमाल के ख़िलाफ़ कार्रवाई

कोलार में सरकारी रक़ूमात बेजा स्तेमाल के ख़िलाफ़ कार्रवाई

कर्नाटक की लोक आयोक्त पुलिस ने आज कोलार में एक ख़ातून ताल्लुक़ा अफ़्सर बराए समाजी बहबूद की रिहायशगाहों पर धावे किए, जहां से चंद अहम दस्तावेज़ात ज़ब्त करलिए गए हैं।

कर्नाटक की लोक आयोक्त पुलिस ने आज कोलार में एक ख़ातून ताल्लुक़ा अफ़्सर बराए समाजी बहबूद की रिहायशगाहों पर धावे किए, जहां से चंद अहम दस्तावेज़ात ज़ब्त करलिए गए हैं।

क़ब्लअज़ीं ये इत्तेलात मौसूल हुई थीं कि ज़िला कोलार में महिकमा समाजी भलाई की भारी रक़ूमात का बेजा इस्तेमाल किया गया है, जिसके बाद इस ख़ातून अफ़्सर के अलावा दीगर 4 ओहदेदारों के रिहायश गाहों पर भी धावे किए गए। लोक आयोक्त के एक आलामीया में कहा गया है कि 1988 के क़ानून इंसिदाद रिश्वत सतानी और हिंदूस्तानी ताज़ीरी क़वानीन की मुख़्तलिफ़ दफ़आत के तहत मुक़द्दमात दर्ज किए गए हैं।

ताल्लुक़ा समाजी बहबूद अफ़्सर (कोलार) फ़ारूक़ी सुलताना, सैकिण्ड डेवेझ क्लर्क ज़िला टरीझ़री वेंकटेश, वार्डन अज़ीम और एक मुलाज़िम दर्जा चहारुम मंजू नाथ और सदर वयदा शोधरा क्रेडिट कवापरेटीव बैंक के सदर चिन्तामणि और वीनूगोपाल रेड्डी की रिहायशगाहों पर भी धावे किए गए।

ये इल्ज़ाम आइद किया गया है कि ज़िला कोलार में दर्ज फ़हरिस्त तबक़ात-ओ-क़बाइल के मुख़्तलिफ़ हॉस्पिटल्स में गैरमौजूद मुलाज़मीन के नामों पर बेनामी उजरतों के तौर पर 49 लाख रुपय गै़रक़ानूनी तौर पर इस्तेमाल किए गए थे। इस साज़िश में कोलार डिस्ट्रिक्ट डेरीझ ऑफ़िस में भी साज़बाज़ की थी।

आलामीया के मुताबिक़ धाव के दौरान कई सरकारी महर भी ज़ब्त करलिए गए। मुख़्तलिफ़ मुक़ामात पर धावे जारी हैं।

TOPPOPULARRECENT