Thursday , September 21 2017
Home / Editorial / क्या अमेरिका ने स्वंय 9/11 हमला करवाकर रची थी मुसलमानों के ख़िलाफ गहरी साजिश ?

क्या अमेरिका ने स्वंय 9/11 हमला करवाकर रची थी मुसलमानों के ख़िलाफ गहरी साजिश ?

9/11 के हमले के बाद दहशतगर्दी का हर वाकिया इस्लाम और मुसलमानो से जोड़ दिया जाता है,और मीडिया ये प्रोपागैंडा करता है की पूरी दुनिया मे सिर्फ़ मुसलमान ही दहशतगर्द है,जबकी इनका ये प्रोपागैंडा सिर्फ इनके द्वारा इतिहास मे किये गये नरसंहारो पर पर्दा डालना है,आज जबकी सारी दुनिया 9/11 के ढोंग को याद करके आंसू बहा रही है चलिये आपको इन अमेरीकी और यौरोपियन के घडियालों की भी करतूतें बतातें है,जिसकी नज़ीर आने वाले वक्त मे भी शायद कभी मिले !

गौस्ताओलैबान अपनी किताब “हज़ारतुल अरब” मे लिखता है की”जब सलीबी (ईसाई) फ़ौजी क़ुद्स मे दाख़िल हुऐ तो आठ दिन तक ख़ून की हौली खेली और तक़रीबन साठ हज़ार इंसानो को मौत के घाट उतार दिया the kingdom of heaven नाम की हॉलिवुड मूवी मे खुद ईसाई Knight ये कहते हुऐ बताया गया है
अंग्रैज़ बादशाह हैनरी 4th और हैनरी 5th के दौर मे कैथोलिक चर्च की अदालतों ने लाखों की तादाद मे मुख़ालिफ़ीन सूली पर चढा दिया था
हॉलैंड मे चार्लस 5th (1337-1380 AD) मे एक लाख लोगो को मौत की नींद सुला दिया गया
फ्रांस मे चार्लस 9th (1550-1574 AD) मे कैथोलिक ईसाईयो ने बीस हज़ार Protestant ईसाईयो को क़त्ल किया
अमेरीका मे मूल निवासी रैड इंडियन की आबादी तक़रीबन 150 मिलियन थी,लेकिन गौरों ने सिवाये एक मिलियन के सब को ख़त्म कर दिया था
फ्रांस मे जम्हूरी इंक़लाब आयाऔर जब एक एक कर इंसानो को वहां क़त्ल करना मुमकिन रहा तो ऐसे हथियार ईजाद करना पडा जो एक वक्त मे बीस इंसानो के सरों को नारियल की तरह उडा देती थी,इस लोकतांत्रिक क्रांती ने इतिहासकारों के अंदाज़े के मुताबिक़ 26 लाख लोगो को इनकी भेंट चढा दिया गया था

Facebook पर हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करें

प्रथम विश्वयुद्ध मे युरोपीयन मुल्को ने जर्मनी से अपने इलाक़ो की आज़ादी के लिये क़त्लो ग़ारत गिरी का बाजार गर्म किया,इस हौलनाक जंगे अज़ीम मे 10 मिलियन से ज़्यादा इंसानो को मार दिया गया था,और घायलो की संख्या 20,मिलियन बताई जाती है,इसमे रूस के 18लाख,फ्रांस के 13लाख 70हज़ार,इटली के 4 लाख 20 हज़ार,ऑस्ट्रेलिया के 8लाख,ब्रिटैन के 7लाख 20 हज़ार,बुल्गारिया के 1 लाख,रौम के 1 लाख,ऑस्ट्रिया के 1 लाख तुर्की के 2 लाख बैल्जियम के 1 लाख और अमेरीका के 50 हज़ार इंसान हलाक हुऐ थे
जापानी और चीनी जंग (1937-1943 AD) मे चीनी घायलो और मरने वालो की संख्या 5 मिलियन से भी ज़्यादा थी,इस जंग मे चीन के मशहूर शहर नानकेन मे भयानक रक्तपात हुआ जिस मे 2 लाख चीनी मारे गये,और 20 हज़ार औरतों की आबरु रेज़ी को अंजाम दिया गया था
द्वितृिय विश्वयुद्ध मे ताकत के नशे मे चूर महाशक्तियो ने इलाक़े पर कब्ज़ा जमाने के लिये मुख्तलिफ़ मुल्को को इंसानो को सफा ए हस्ती से मिटा दिया था,जिनती संख्या लगभग 1 करोड़ 6 लाख के आसपास है,अमेरीका के 2 लाख 92 हज़ार,सोवियत युनियन के 7 लाख 50 हज़ार और चीन के 22 लाख लोग मारे गये थे,घायलो की संख्या 80 मिलियन थी और लाखो बच्चे आज भी परमाणू हमले की वजह से माज़ूर पैदा हो रहै हैं
दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान जर्मनी ने ब्रिटैन पर सख़्त हवाई हमले किये जो पांच महीने तक जारी रहै,और इन मे 23 हज़ार नागरिक मारे गये थे
इसी जंग मे अमेरीका ने जर्मनी पर हमला करके तकरीबन एक मिलियन नागरिकों को मौत के घाट उतार दिया था
और इसके साथ सबसे कायराना और वहशियान काम जो अमेरीका द्वारा अंजाम दिया गया वो हिरोशिमा,नागासाकी पर 12 हज़ार टन वज़नी बम गिरा कर किया गया था जिसने लखो बेगुनाहो को बेवक्त ही मौत की नींद सुला दिया था
1949-1953 ईसवीं मे पश्चिमी तुर्किस्तान मे चीन ने 1 लाख मुसलमानो को क़त्ल कर दिया था,इस्लाम पर पांबदी लगा दी गई थी,और नाम बदल कर सिक्यांज कर दिया गया था
वियतनाम जंग मे अमेरीका ने 3 मिलियन वियतनामियो को क़त्ल कर दिया था,3 लाख लोग अपाहिज हो गये थे,40 लोगो को दूसरे देशों मे शरण लेना पडी
1982 ई. मे इस्राईली वज़ीर ए आज़म एरियल शैरॉन ने लैबनान के शरणार्थी कैंपो मे रह रहै 3 हज़ार फिलिस्तीनियो को क़त्ल कर दिया था
1990-92 ई. मे खाडी युद्ध जो की सुपर पॉवर की सरपरस्ती मे लडा गया था 1 लाख इंसानी जानो का ख़ात्मा हुआ था
1992-95 मे युरोपियन मुल्कों की सरपरस्ती मे सरबियन ने बौस्निया के आसपास हज़ारो मुसलमानो को को बेरहमी से क़त्ल कर दिया गया था UN की एक रिपोर्ट के मुताबिक 20 हज़ार से 50 हज़ार तक मुस्लिम औरतों की आबरू रेज़ी की गई थी और तीन सौ क़ब्रो मे इकठ्ठा दफ़्न कर दिया गया था
1994-97 ई. मे चैचन्या मे रूस ने एक लाख मुसलमानो को को क़त्ल कर दिया था और मुसलमानो के साथ ऐसी घिनौनी कार्यवाहियां की गई थी के सिर्फ इसके बारे मे सुनकर ही रौंगटे खडे हो जाये….
ये दुनिया के अपन पसंद ताक़तो की इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली हरकते है जिसकी फेहरिस्त बहुत लंबी है…इनकी हैवानियत को बयान करते करते क़लम घिस जायेंगे स्याही सूख जायेगी,ये सलीबी जंगे है जो अघोषित रूप से लडी जा रही है जिसकी मिसा दौर ए हाज़िर मे अफ़्गान,ईराक़,लीबीया,फिलीस्तीन मे मौजुद है…इस तारीख को ग़ौर से पढिये और ढूंढिये उन मुसलमानो को जो दुनिया मे दहशत मचाये हुऐ हैं ? कहां है वो ? कौन है असली दहशतगर्द ?
आप बस इस्लाम को कोसते रहिये….

Shoaib Gazi
(यह लेखक के निजी विचार है)

TOPPOPULARRECENT