Saturday , September 23 2017
Home / Bihar News / क्या दुसरे दलों के वरिष्ठ नेता 2019 के लिए नीतीश में बेहतर विकल्प देख रहे हैं?

क्या दुसरे दलों के वरिष्ठ नेता 2019 के लिए नीतीश में बेहतर विकल्प देख रहे हैं?

पटना। जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि देश में संभावनाएं तलाशी जा रही है। देश में दूसरे दलों के बड़े नेता मुख्यमंत्री नीतीश कुमार में बेहतर विकल्प देख रहे हैं। पूर्व प्रधानमंत्री एचडी. देवगौड़ा, ओमप्रकाश चौटाला, शरद पवार, अजीत सिंह, बाबू लाल मरांडी अपने यहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बुला रहे हैं। ममता बनर्जी भी चाहती हैं कि नीतीश कुमार राष्ट्रीय विकल्प बनें।

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबू लाल मरांडी ने भी देश भर में घूमने की बात कही है। इस पर कई तरह की चर्चा होती है और समय का इंतजार करना चाहिए, सारे दलों के नेता एक साथ बैठेंगे और राष्ट्रीय हित में निर्णय लेंगे। वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि देश में आज भावनात्मक नारों पर लोगों को बरगलाया जा रहा है। जो वादे किये गये थे उसे पूरा नहीं किया गया और तरह-तरह की बातें की जा रही है। इसे रोकना होगा। इसके लिए देश के जिम्मेवार नेतागण हैं वे पहल करेंगे। भाजपा के साथ जदयू के गंठबंधन की खबर को जदयू प्रदेश अध्यक्ष ने सिरे से खारिज कर दिया है। उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा कि कहीं एेसी कोई बात नहीं है।

रियूमर फैलाने वालों ने ऐसी हरकत की है। जदयू का इमेज खराब करने के लिए इस तरह का हथकंडा अपनाया गया है। जो लोग किसी के एजेंट बन कर काम कर रहे हैं उन्हीं का यह सब किया धरा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में महागंठबंधन मजबूत है। कुछ लोगों को बयान का अर्थ नहीं लगाया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के बीच लगातार संपर्क कायम है।

समाजवादी पार्टी के विवाद पर जदयू के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जहां गृह कलह है वहां आग में घी का काम नहीं करना चाहिए। यूपी विवाद का बिहार में कोई असर नहीं पड़ेगा। जहां भी समाजवादी शक्तियां हैं चाहे हमसे समझौता हो या नहीं, उनके अंदर कोई झगड़ा या विवाद ना हो तो देश के लिए अच्छा है।

कुछ घटनाओं के कारण अलग राय होती है, लेकिन हम चाहते हैं कि सभी में सुलह हो जाये। उन्होंने कहा कि समाजवादी शक्तियों को देर सबेर एक मंच पर लाने का प्रयास होना चाहिए। देश में नीतीश कुमार ने इसकी शुरुआत पहले भी की थी, लेकिन अपेक्षित सफलता नहीं मिली थी। फिर से ऐसी शक्तियों को जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है

नेशनल पीपुल्स पार्टी की बिहार इकाई का बुधवार को जदयू में विलय हो गया। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व जदयू के पूर्व नेता संजय वर्मा के नेतृत्व में नेता व कार्यकर्ता जदयू में शामिल हुए। जदयू के प्रदेश कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलायी।

TOPPOPULARRECENT