Saturday , August 19 2017
Home / Politics / क्या “सपा” साधु संतों को अपने करीब ला कर बीजेपी के हिंदुत्व मुद्दे को छीन रही है?

क्या “सपा” साधु संतों को अपने करीब ला कर बीजेपी के हिंदुत्व मुद्दे को छीन रही है?

उत्तर प्रदेश की सत्ता की मलाई हर कोई खाना चाहता है। इसके लिये राजनैतिक दल क्या कर रहें। यह जनता से फिलहाल छिपा नही है। जहां एक ओर उत्तर प्रदेश के सीएम अखिलेश साधू संतों को अपने आवास पर भोजन के लिये आमत्रित कर अयोध्या में भंजन संध्या भवन के निर्माण का वादा कर रहें हैं तो वही भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या इसे एक ढोंग बता रहें हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में शामिल होने झांसी आये प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या से अखिलेश यादव द्वारा साधु-संतों को अपने आवास पर भोजन के लिये आमंत्रित कर आयोध्या के अंदर भजना संध्या भवन के निर्माण करने की बात को लेकर अखिलेश सरकार पर निशान साधा है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति कावाड़ियों को भजन करने से रोकेगा तो वह क्यों भजन संध्या भवन का निर्माण करायेगा। वह केवल ढोंग कर रहें है। इससे उन्हें कोई लाभ नही मिलने वाला है।

उत्तर प्रदेश के साधु संतों, नौजवानों और धर्मिक प्रवृति के लोग यह भालि भांति जानकारी है कि राम मंदिर बनने में सबसे बड़ी बाधा कौन है। इसे बताने की जरुरत नही है। कार्य सेवकों और रामभक्तों पर किसने गोलियां चलवाई थीं। यह उत्तर प्रदेश के सभी लोगों की जानकारी में है। अब वह सीएम अखिलेश के इस ढोंग और दिखावें में फंसने वाले नही है।

TOPPOPULARRECENT