Sunday , October 22 2017
Home / Sports / क्रिकेट में दलितों के लिए आरक्षण की मांग को लेकर चर्चा में बीजेपी सांसद उदित राज

क्रिकेट में दलितों के लिए आरक्षण की मांग को लेकर चर्चा में बीजेपी सांसद उदित राज

दिल्ली : उत्तर-पश्चिमी दिल्ली से बीजेपी सांसद उदित राज कुछ दिनों से क्रिकेट में दलितों के लिए आरक्षण की मांग को लेकर चर्चा में हैं. हाल ही में उन्होंने क्रिकेट में दलितों की बात करते हुए पूर्व खिलाड़ी विनोद कांबली का भी जिक्र किया था. उन्होंने कहा था कि दलित होने के कारण कांबली के साथ टीम में भेदभाव किया गया. जिस पर विनोद कांबली ने ऐतराज जताते हुए उदित राज से उनके नाम का इस्तेमाल ना करने की गुजारिश की है.

अपने दौर के बेहतरीन बल्लेबाज के तौर पर मशहूर विनोद कांबली ने बीजेपी सांसद को क्रिकेट में कोटे की मांग के मुद्दे पर उनके नाम का बेजा इस्तेमाल करने पर सख्त हिदायत दी है. उन्होंने उदित राज के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा है कि मैं आपके किसी भी बयान का समर्थन नहीं करता. कृप्या आप भी मेरे नाम का इस्तेमाल ना करें.’ कांबली ने ये जवाब उस ट्वीट पर दिया है जिसमें उदित राज ने कहा था कि ‘तुम्हें ये बात कुबूल करने पर कोई शर्मिंदगी नहीं होनी चाहिए कि तुम्हारा दलित होना ही क्रिकेट से तुम्हारे बहिष्कार का कारण बना.’

आपको बता दें कि बीजेपी सांसद उदित राज का कहना है कि दलित खिलाड़ी भारतीय क्रिकेट टीम में आगे इसलिए नहीं बढ़ पाते क्योंकि उनके साथ भेदभाव किया जाता है. उन्होंने कहा कि इस भेदभाव को खत्म करने का एकमात्र रास्ता है कि क्रिकेट में दलितों को आरक्षण दिया जाए. इतना ही नहीं अपनी मांग को सही साबित करते हुए उन्होंने इस सिलसिले में दक्षिण अफ्रीका की टीम का उदाहरण भी दिया. उन्होंने कहा कि दक्षिण अफ्रीका में भी नस्लीय भेदभाव मिटाने के लिए क्रिकेट टीम में 11 में से 6 अश्वेत खिलाड़ी रके जाने का प्रावधान है.

उदित राज की क्रिकेट में दलितों के लिए आरक्षण की मांग का देशभर में काफी विरोध किया जा रहा है. क्रिकेट की कई नामचीन हस्तियों ने बीजेपी सांसद की इस मांग को खेल के माध्यम से देश में विभाजन करने की कोशिश करार दिया है.

TOPPOPULARRECENT