Sunday , October 22 2017
Home / District News / ख़ुदग़रज़ सियासतदानों को वोट ना देने की अपील

ख़ुदग़रज़ सियासतदानों को वोट ना देने की अपील

मुहम्मद असद उद्दीन क़ाइद जनतादल एस ने एक सहाफ़ती बयान में इन अरकान असेंबली के रवैये पर इज़हार-ए-अफ़सोस करते हुए कहा है कि हिंदुस्तानी मुसलमान 21 सदरी में भी सिर्फ़ वोट डालने की मिशन बन कर रह गए हैं।

मुहम्मद असद उद्दीन क़ाइद जनतादल एस ने एक सहाफ़ती बयान में इन अरकान असेंबली के रवैये पर इज़हार-ए-अफ़सोस करते हुए कहा है कि हिंदुस्तानी मुसलमान 21 सदरी में भी सिर्फ़ वोट डालने की मिशन बन कर रह गए हैं।

चुनाव के फ़ौरी बाद जिस के हक़ में वोट डाला जाता है वो चुने हुवे नुमाइंदा मुसलमानों और उनके मसाइल को पूछ कर भी नहीं देखता ।
ईद-उल-फ़ित्र के मौके पर ईदगाह बीदर के सामने नसब करदा ख़ैर सगाली शामियाने में बीदर के अरकान असेंबली को इस दफ़ा मौजूद नहीं पाकर उन्होंने इज़हार ब्रहमी करते हुए बताया हैके जिन अरकान असेंबली को मुसलमानों ने वोट दिया वही अरकान असेंबली शामियाने में मौजूद नहीं थे बल्कि उनकी जगह शिकस्त ख़ूर्दा अरकान असेंबली मुस्लिम भाईयों को ईद की मुबारकबाद पेश कर रहे थे।

चुनेहुवे अवामी नुमाइंदों का ख़ैर सगाली शामियाने में मौजूद नहीं रहना एक इंतेहाई तकलीफ़ दह अमल है। मौसूफ़ ने अपने बयान के आख़िर में मुसलमानों को ख़ुदसाख़ता और ख़ुदग़रज़ सियासतदानों को वोट देकर अपना वोट ज़ाए होने से बचाने की तलक़ीन की है।

TOPPOPULARRECENT