Thursday , August 24 2017
Home / District News / ख़ुसूसी मौक़िफ़ के मुतालिबे पर आंध्र प्रदेश बंद का मिला-जुला रद्द-ए-अमल

ख़ुसूसी मौक़िफ़ के मुतालिबे पर आंध्र प्रदेश बंद का मिला-जुला रद्द-ए-अमल

विजयवाड़ा 30 अगस्त: आंध्र प्रदेश के लिए ख़ुसूसी ज़मुरा का मौक़िफ़ देने के मुतालिबा पर वाई एस आर कांग्रेस पार्टी की तरफ से मालना रियासत गीर बंद का मिला-जुला रद्द-ए-अमल रहा और बंद किसी नाख़ुशगवार वाक़िये के बग़ैर पुरअमन रहा।

बंद के दौरान सड़कों पर निकल आने वाले पार्टी के सैंकड़ों कारकुनों और क़ाइदीन को पुलिस ने एहतियाती हिरासत में ले लिया या फिर उन्हें गिरफ़्तार कर लिया गया। आंध्र प्रदेश के डायरेक्टर जनरल पुलिस जे वी रामू डू ने कहा कि बंद के दौरान रियासत भर में कहीं से भी कोई नाख़ुशगवार वाक़िया पेश आने की इत्तेला नहीं मिली है।

उन्होंने बताया कि रियासत ज़ाइद अज़ 1,500 अफ़राद को जिनमें वाई एस आर सी पी के कुछ क़ाइदीन भी शामिल हैं एहतियाती हिरासत में लिया गया है या फिर उन्हें एहतियाती तौर पर गिरफ़्तार कर लिया गया है।

वाई एस आर कांग्रेस के सरबराह जगन मोहन रेड्डी ने इल्ज़ाम आइद किया कि चीफ़ मिनिस्टर एन चंद्रबाबू नायडू ने अपना दौरा दिल्ली मंसूख़ कर दिया है और उन्होंने दिन-भर के बंद को नाकाम बनाने के लिए काबीना की मीटिंग मुनाक़िद किया है।

सी पी एम के रियासती जनरल सेक्रेटरी पी मधु को विजयवाड़ा में एहतेजाज के दौरान गिरफ़्तार कर लिया गया। कई मुक़ामात पर आर टी सी बसों को डिपोज़ से निकलने का मौक़ा नहीं दिया गया जबकि उनकी ख़िदमात शाम में बहाल हो गई थीं। बंद की वजह से आर टी सी मुसाफ़िरिन को मुश्किलात का सामना करना पड़ा।

बंद का रेलवे ट्रैफ़िक पर कोई असर नहीं हुआ। तालीमी इदारों ने रखशा बंधन तहवार की वजह से पहले ही तातील का एलान कर दिया था।

विशाखापटनम में बंद का जुज़वी असर रहा और बस ख़िदमात मुतास्सिर नहीं हुईं। वाई एस आर कांग्रेस ने मुतालिबा किया कि चीफ़ मिनिस्टर चंद्रबाबू नायडू रियासत को ख़ुसूसी मौक़िफ़ देने के मसले पर अपने मौक़िफ़ की वज़ाहत करें।

TOPPOPULARRECENT