Thursday , October 19 2017
Home / Khaas Khabar / खुद को बलात्कार से बचाना पड़ा भारी अदालत ने दी फांसी

खुद को बलात्कार से बचाना पड़ा भारी अदालत ने दी फांसी

ईरान में एक खातून को फांसी की सजा दे दी गई है। खातून पर एक शख्स के कत्ल करने का इल्ज़ाम था। खातून का कहना था कि उस शख्त ने उनके साथ बलात्कार करने की कोशिश की थी। जब्बारी को ईरान के खुफिया वज़ारत के साबिक मुलाज़िम मुर्तजा अब्दोआली सरबंद

ईरान में एक खातून को फांसी की सजा दे दी गई है। खातून पर एक शख्स के कत्ल करने का इल्ज़ाम था। खातून का कहना था कि उस शख्त ने उनके साथ बलात्कार करने की कोशिश की थी। जब्बारी को ईरान के खुफिया वज़ारत के साबिक मुलाज़िम मुर्तजा अब्दोआली सरबंदी के कत्ल के इल्ज़ाम में 2007 में गिरफ्तार किया गया था। इंसानी हुकूक की तंज़ीम एमनेस्टी इंटरनेशनल का कहना है कि जांच के बाद जब्बारी को गुनाहगार ठहराया गया था।

आपको बता दें कि 26 साला रेहाना जब्बारी को माफी देने के लिए इंटरनैशनल मुहिम चलाई गई थी, लेकिन उन्हें हफ्ते के रोज़ तेहरान की एक जेल में फांसी दे दी गई। जब्बारी की पांसी को रोकने के लिए फेसबुक और टि्वटर पर गुजश्ता महीने एक मुहिम चलाया गया था, जिसके बाद इसे कुछ दिनो के लिए रोक दिया गया था, लेकिन जब्बीर का खानदान मुतास्सिर खानदान की रज़ामंदी हासिल करने में नाकाम रहा। जब्बारी का खुद को बचाने के लिए कत्ल करने की दलील अदालत में साबित नहीं हो सकी।

TOPPOPULARRECENT