Tuesday , August 22 2017
Home / Uttar Pradesh / गंगा-जमुनी संस्कृति के वाहक, पूर्व सांसद और मशहूर कवि ” बेकल उत्साही ” का निधन

गंगा-जमुनी संस्कृति के वाहक, पूर्व सांसद और मशहूर कवि ” बेकल उत्साही ” का निधन

नई दिल्ली। राज्यसभा के पूर्व सांसद और मशहूर शायर मोहम्मद शफी खान बेकल उत्साही का आज यहां राम मनोहर लोहिया अस्पताल में निधन हो गया। वह 87 साल के थे। बेकल उत्साही परिवार में दो बेटे और चार बेटियां हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार ब्रेन हेम्ब्रेज के कारण गुरुवार को उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उन्हें आईसीयू में रखा गया था, जहां आज सुबह चार बजकर 30 मिनट पर उनका निधन हो गया। उन्हें कल दोपहर ज़ोहर की नमाज़ के बाद उनके पैतृक स्थान उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में सुपुर्दे खाक किया जायेगा। उनका जन्म 1928 में बलरामपुर में हुआ था।
बेकल उत्साही ने उर्दू और हिंदी भाषा को पूरा सम्मान दिया। स्थानीय भाषाओं के संयोजन से उन्होंने ग़ज़ल और शेरो शायरी में कई प्रयोग किए जिसे दर्शकों ने खूब पसंद किया।
गंगा-जमुनी संस्कृति के समर्थक श्री बेकल उत्साही को साहित्यिक सेवाओं में विशेष सेवा करने के लिए 1976 में पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. उत्तर प्रदेश सरकार ने उन्हें यश भारतीय पुरस्कार से सम्मानित किया था। कांग्रेस ने बेकल उत्साही को 1986 में राज्यसभा का सदस्य बनाया था।

TOPPOPULARRECENT