Wednesday , August 23 2017
Home / India / गंगा मैया को गंंदा करनेेे वालों की अब खैर नहीं, लगेगा 50,000 रुपए का जुर्माना : एनजीटी

गंगा मैया को गंंदा करनेेे वालों की अब खैर नहीं, लगेगा 50,000 रुपए का जुर्माना : एनजीटी

नई दिल्ली : गंगा मैया को गंंदा करनेेे वालों की अब खैर नहीं। अब गंगा में कचरा फेंकने पर आपको 50,000 रुपए का जुर्माना देना पड सकता है। गंगा नदी के आसपास डिवेलपमेंट के काम को लेकर नैशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल का बड़ा फैसला आया है। एनजीटी ने नदी के आसपास के 100 मीटर के दायरे को नो डिवेलपमेंट जोन घोषित कर दिया गया है, यानी इसके आसपास कोई निर्माण कार्य नहीं किया जा सकता। यह फैसला हरिद्वार से उन्नाव के बीच के जोन के लिए है।

एनजीटी का कहना है कि हरिद्वार से उन्नाव के बीच बह रही गंगा के आसपास के 500 मीटर के दायरे में किसी तरह का कचरा नहीं फेंका जाना चाहिए। यहां बह रही गंगा में कचरा फेंकने वालों पर जुर्माना लगाए जाने का निर्देश जारी किया है। गंगा में कचरा फेंक उसे दूषित करने वालों पर 50,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा।

एनजीटी ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड सरकार को गंगा और उसकी सहायक नदियों के घाटों पर धार्मिक क्रियाकलापों के लिए दिशानिर्देश बनाने के लिए कहा। साथ ही, उत्तरप्रदेश को अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए चमड़े के कारखानों को जाजमउ से उन्नाव अथवा किसी भी अन्य स्थान जिसे राज्य उचित समझता हो, वहां 6 सप्ताह के भीतर स्थानांतरित करने के लिए कहा गया है। एनजीटी ने 543 पन्नों वाले अपने फैसले के पालन की निगरानी करने और इस संबंध में रिपोर्ट पेेश करने के लिए पर्यवेक्षक समिति का भी गठन किया है।

TOPPOPULARRECENT