Wednesday , May 24 2017
Home / Election 2017 / गठबंधन के बावज़ूद अखिलेश की पहली रैली से दूर रहे कांग्रेसी

गठबंधन के बावज़ूद अखिलेश की पहली रैली से दूर रहे कांग्रेसी

सुल्तानपुर। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन हुआ है। दोनों ही दल मिलकर इस चुनाव में उतरे हैं। लेकिन जैसे हालात नजर आ रहे हैं उससे तो यही लगता है कि इस गठबंधन में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि कांग्रेस से गठबंधन के बाद समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने चुनाव प्रचार का आगाज किया।

इस दौरान अखिलेश यादव ने दावा किया कि समाजवादी पार्टी प्रदेश में 250 सीटें जीतकर स्पष्ट बहुमत हासिल करेगी। हालांकि हमने कांग्रेस के साथ गठबंधन इसलिए किया है क्योंकि जिससे हमें 403 में से 300 से ज्यादा सीटें हासिल हों। यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जहां एक ओर जीत का दावा कर रहे थे, तो दूसरी ओर इसी रैली में कांग्रेस और समाजवादी पार्टी गठबंधन की पोल भी खुलती दिख रही थी।

समाजवादी पार्टी की रैली के दौरान स्थानीय कांग्रेस से जुड़ा कोई भी नेता नजर नहीं आ रहा था। जिले के सभी बड़े नेता अखिलेश यादव की रैली से दूर रहे। सुल्तानपुर में चुनाव पांचवें चरण में है। यहां से समाजवादी पार्टी ने वर्तमान विधायक अरुण वर्मा को सदर सीट से और अबरार अहमद को इसौली सीट से चुनाव मैदान में उतारा है। अखिलेश यादव इन्हीं उम्मीदवारों के समर्थन में रैली के लिए पहुंचे थे, लेकिन कांग्रेस के नेताओं का रैली से गायब रहना चौंकाने वाला रहा।

इस मुद्दे पर सुल्तानपुर कांग्रेस जिला समिति के अध्यक्ष कृष्ण कुमार मिश्रा ने बताया कि हम मुख्यमंत्री के चुनावी कार्यक्रम से इसलिए दूर रहे क्योंकि हमें कांग्रेस आलाकमान की ओर से समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन की आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। हमारे पास समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर सीट-शेयरिंग की कोई जानकारी नहीं दी गई है।

कांग्रेस जिला समिति के अध्यक्ष कृष्ण कुमार मिश्रा ने बताया कि हम सपा के कार्यक्रम में तब तक शामिल नहीं हो सकते हैं जब तक कि राज्य इकाई या फिर कांग्रेस का केंद्रीय आलाकमान हमें कोई स्पष्ट निर्देश नहीं देगा। हमें कांग्रेस-सपा गठबंधन की जानकारी मीडिया के जरिए मिली है। हमारे पास पार्टी के उच्चाधिकारियों की ओर से कोई जानकारी नहीं मिली है।

दूसरी ओर से समाजवादी पार्टी के सुल्तानपुर सदर सीट से उम्मीदवार अरुण वर्मा ने बताया कि हमने कांग्रेस के जिला अध्यक्ष को मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के लिए बुलाया था। हम उनसे पूछेंगे कि आखिर वो चुनावी रैली में शामिल क्यों नहीं हुए?

Top Stories

TOPPOPULARRECENT