Thursday , June 29 2017
Home / Politics / गठबंधन के बावजूद एक ही सीट से सपा और कांग्रेस दोनों ने भरा पर्चा

गठबंधन के बावजूद एक ही सीट से सपा और कांग्रेस दोनों ने भरा पर्चा

लखनऊ: सपा और कांग्रेस के बीच गठबंधन होने के बावजूद कुछ सीटों को लेकर दोनों के बीच गहरा पेंच फंस गया है. इन सीटों में लखनऊ सेंट्रल सीट के अलावा कानपुर शहर की तीन प्रमुख विधानसभा सीटें शामिल हैं. लखनऊ सेंट्रल सीट से सपा ने वर्तमान विधायक रविदास मेहरोत्रा को टिकट दिया था और उन्होंमने अपना नामांकन भी दाखिल कर दिया. वहीं कांग्रेस ने मारुफ खान को उतार दिया और उन्होंने भी अपना पर्चा दाखिल कर दिया. दोनों उम्मीदवारों का कहना है कि उन्हें पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने ऐसा करने को कहा है. यह भी खबर आ रही है कि सपा ने मेहरोत्रा का टिकट काट दिया है. लेकिन वह पीछे हटने को तैयार नहीं है. उनका कहना है कि इस सीट से वे ही लड़ेंगे मारुफ खान अपना नामांकन वापस लेंगे.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

जनसत्ता के अनुसार, रविदास मेहरोत्रा ने कहा, ”अखिलेश यादव और राहुल गांधी ने लोगों से मुझे वोट देने को कहा है. मैं चुनाव लडूंगा. मारुफ खान अपना नामाकंन वापस लेंगे.”
इधर, कांग्रेस नेता मारुफ खान का कहना है, ”मुझे लखनऊ सेंट्रल सीट से पर्चा दाखिल करने के लिए राज बब्बार और गुलाम नबी आजाद ने निर्देश दिए हैं.”

उधर कानपुर शहर की तीन प्रमुख विधानसभा सीट कैंट, किदवईनगर और गोविंदनगर पर भी दोनों पार्टी के बीच पेंच फंस गया है. वैसे शहर की पांचों सीटों पर समाजवादी पार्टी ने अपने उम्मीदवार पहले से ही उतार दिये हैं लेकिन कांग्रेस का दावा है कि समझौते के तहत शहर की तीन सीटों कैंट, किदवईनगर और गोविंदनगर पर वह चुनाव लड़ेगी. इन तीन सीटों में से किदवईनगर से कांग्रेस के मौजूदा विधायक अजय कपूर हैं जबकि गोविंदनगर सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी को पिछले 2012 के विधानसभा चुनाव में दूसरा नंबर मिला था. कैंट की सीट पर कांग्रेस को पिछले चुनाव में तीसरा स्थान मिला था. इससे पहले सपा और कांग्रेस के बीच अमेठी और रायबरेली की सीटों को लेकर तनातनी थी. बाद में यह सभी 10 सीटें कांग्रेस को मिल गई थी.

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस उपाध्यसक्ष राहुल गांधी और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गठबंधन की एकता को दिखाते हुए 29 जनवरी को लखनऊ में रोडशो भी किया था.
बता दें कि यूपी चुनावों के लिए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने कई दौर की बातचीत के बाद समझौता किया है. इसके तहत कुल 403 में से सपा 298 और कांग्रेस 105 पर चुनाव लड़ेगी. दोनों पार्टियां मिलकर बसपा और भाजपा का मुकाबला करेंगी.

Top Stories

TOPPOPULARRECENT