Tuesday , June 27 2017
Home / Election 2017 / गठबंधन के बावजूद कांग्रस और सपा एक दूसरे के आमने सामने

गठबंधन के बावजूद कांग्रस और सपा एक दूसरे के आमने सामने

शम्स तबरेज़, सियासत न्यूज़ ब्यूरो।
लखनऊ: समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने आपस में गठबंधन तो कर लिया लेकिन दोनों के बीच तानातानी का दौर खत्म नहीं हुआ। अब तो हद ये कि प्रदेश में कुल 13 ऐसी सीटें है जहां समाजवादी पार्टी और कांग्रेस दोनों एक दूसरे को चुनौती देते नज़र आ रहे है। मुलायम के करीबी माने वाले रामदास मेहरोत्रा, गायत्री प्रजापती और मनोज कुमार पांडे सपा के टिकट पर मैदान में हैं। कांग्रेस ने नाम वापसी के दिन लखनऊ मध्य सीट से उम्मीदवार मारूफ खां से नाम वापस लेने का आदेश तो दे दिया लेकिन वो नहीं माने फिर भी कांग्रेस ने मारूफ के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाया ऐसे में एक दूसरे को टक्कर दे रहे मारूफ और रविदास गठबंधन के चुनावी उम्मीदार हैं। बाराबंकी की जैतपूर सीट से सपा ने प्रत्याशी रामगोपाल को पार्टी से निष्काषित दिया लेकिन अभी भी वो तकनीकी तौर पर उम्मीदवार हैं।
कांग्रेस और समाजवादी पार्टी आज भले ही गठबंधन कर चुकी हो लेकिन कहीं न कहीं दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता एक दूसरे को गठबंधन से अलग समझ रहे हैं। इसी वजह से दोनों पार्टी के प्रत्याशी एक दूसरे के आमने सामने खड़े हैं।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT