Sunday , October 22 2017
Home / India / गडकरी की मुश्किलात में इज़ाफा

गडकरी की मुश्किलात में इज़ाफा

नई दिल्ली, १० नवंबर: बी जे पी सदर नितिन गडकरी की दोबारा ताजपोशी की राह मुश्किल दिख रही है। राम जेठमलानी के बाद अब भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी के रूकन जगदीश शेट्टीगर ने गडकरी को अपने ओहदे से इस्तीफा देने को कहा है।

नई दिल्ली, १० नवंबर: बी जे पी सदर नितिन गडकरी की दोबारा ताजपोशी की राह मुश्किल दिख रही है। राम जेठमलानी के बाद अब भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी के रूकन जगदीश शेट्टीगर ने गडकरी को अपने ओहदे से इस्तीफा देने को कहा है।

शेट्टीगर का कहना है कि गडकरी को अपने ऊपर लगे बदउनवानी (भ्रष्टाचार/Corruption) के इल्ज़ामो को देखते हुए सदर का ओहदा छोड़ देना चाहिए।

शेट्टीगर ने कहा कि नितिन गडकरी आरएसएस के कारकुन भी हैं। संघ का बुनियादी मज़हब है कि वह पहले कौमी मुफाद देखता है और इसके बाद तंज़ीम। इसलिए बतौर स्वयंसेवक होने के नाते मुझे पूरा यकीन है कि गडकरी मुल्क और पार्टी दोनो की भलाई को देखते हुए फैसला लेंगे।

साथ ही गडकरी को आवाम के जज़्बात की अनेदखी नहीं करनी चाहिए जो उनके इस्तीफे के पक्ष में है।

शेट्टीगर ने पार्टी के सीनीयर लीडर लालकृष्‍ण आडवाणी का मिसाल देते हुए कहा कि उन्होंने हवाला मामले में मुबय्यना इल्ज़ाम के बाद अपने ओहदे से मुस्ताफी हो गए थे।

वाजेह है कि राम जेठमलानी और उनके बेटे महेश जेठमलानी भी गडकरी से इस्तीफे की मांग कर चुके हैं। जेठमलानी ने इद्दिया किया था कि पार्टी के पार्टी के सीनीयर लीडर जसवंत सिंह, यशवंत सिन्हा और शत्रुघ्न सिन्हा भी गडकरी के इस्तीफे के हक में हैं।

TOPPOPULARRECENT