Thursday , August 24 2017
Home / Bihar/Jharkhand / गया मर्डर केस : सरेंडर नहीं करेंगी बरखास्त जदयू विधान पार्षद मनोरमा देवी

गया मर्डर केस : सरेंडर नहीं करेंगी बरखास्त जदयू विधान पार्षद मनोरमा देवी

गया : जनता दल यू से बरखास्त विधान पार्षद मनोरमा देवी ने एक छापेमारी के दौरान उनके घर से मिली शराब की बोतलों के सिलसिले में जिला अदालत में आज अग्रिम जमानत याचिका दाखिल की. उनके बेटे ने अपने गाडी को पास नहीं देने के लिए एक नौजवान को गोली मार कर उसकी जान ले ली थी. मनोरमा देवी की तरफ से वकील कैसर सर्फुद्दीन ने जिला जज ए एन सिंह की अदालत में जमानत याचिका दाखिल की जिन्होंने मामले की सुनवाई के लिए पीर की तारीख तय कर दी.

याचिका दाखिल करने के बाद सर्फुद्दीन ने कहा कि मनोरमा देवी अदालत के सामने सरेंडर नहीं करेंगी. गया वाके अपने घर से शराब की बोतलें मिलने के बाद से ही वह फरार हैं. मनोरमा देवी के वकील ने आगे दावा किया कि उन्हें इस मामले में ‘‘फंसाया’ गया है क्योंकि उनके खिलाफ लगाये गये इल्जाम झूठे हैं. वकील ने कहा कि शराब बोतल बरामदगी मामले के सिलसिले में दर्ज प्राथमिकी में आरोपी के तौर में उनका नाम नहीं है. जनता दल यू से अपने बरखास्तगी के एक दिन बाद आबकारी विभाग ने 11 मई को शराब बोतलों की बरामदगी के सिलसिले में उनके घर को सील कर दिया था.

पुलिस ने उनकी तलाश में अपने मुहिम को तेज कर दिया था जिनका पता नहीं लगाया जा सका है. आबकारी विभाग के अफसरों ने पुलिस की मदद से अनुग्रह पुरी कालोनी वाके मनोरमा देवी के घर को सील कर दिया था। पुलिस अधीक्षक गरिमा मलिक ने यह जानकारी दी.

गया पुलिस ने शराब मामले में बुधवार को मनोरमा देवी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट हासिल किया था. विधान पार्षद के खिलाफ रामपुर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज होने के बाद उनके घर को सील किया गया. उनके घर से विदेशी शराब : आईएमएफएल : की छह बोतलें बरामद की गयी थीं. ये बोतलें उनके बेटे राकी की तलाश में की गयी छापेमारी के दौरान पीर को बरामद की गयी थीं जिसने सनीचर की रात को गया में एक नौजवान की गोली मार कर हत्या कर दी थी. राजद के बाहुबली बिंदी यादव की बीवी मनोरमा देवी साल 2015 में विधान पार्षद बनी थीं. इससे पहले वह 2003 से 2009 के बीच राजद की विधान परिषद की मेंबर रही थीं. इससे पहले उनके बेटे राकी यादव और शौहर बिंदी यादव के खिलाफ जब्त शराब की बोतलों को लेकर मामला दर्ज किया गया था। लेकिन उनका नाम एफआईआर में इस सिलसिले में दस मई को जोडा गया. 

TOPPOPULARRECENT