Wednesday , September 20 2017
Home / International / गाजा पर हमारी अगली लड़ाई अंतिम युद्ध साबित होगा: इजरायली रक्षामंत्री

गाजा पर हमारी अगली लड़ाई अंतिम युद्ध साबित होगा: इजरायली रक्षामंत्री

यरूशलेम: इजरायल के रक्षामंत्री एवीग्डोर लिबरमैन ने सोमवार को एक फिलिस्तीनी अखबार को दिए अपने इंटरव्यू में कहा है कि अगर गाजा उग्रवादियों के साथ इजरायल का अगला युद्ध हुआ तो वह आखिरी साबित होगा। उन्होंने कहा कि हम उन्हें पूरी तरह से नष्ट कर देंगे। हालांकि लिबरमैन ने कहा कि उनकी यह मंशा नहीं की गाजा में एक नई जंग की शुरूआत की जाए।

उन्होंने फिलीस्तीनियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि वे हमास पर गाजापट्टी में इस्लामी आंदोलन चलाने के लिए दवाब बनाते हैं। उन्हें अपने इस सनकी नीतियों से बाज आना चाहिए। उन्होंने यरूशलेम स्थित अल-कुद्क अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा कि एक रक्षा मंत्री के रूप में, मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि हम अपने पड़ोसी गाजा पट्टी या वेस्ट बैंक, लेबनान या सीरिया के खिलाफ एक नई जंग शुरू करने का कोई इरादा नहीं रखते हैं। लेकिन गाजा में ईरान जैसों ने अगर इजायल राज्य को खत्म करने या इजराइल पर युद्ध थोपने की कोशिश की तो वे उनका आखिरी युद्ध साबित होगा। लिबरमैन ने उसके आगे कहा “मैं एक बार फिर स्पष्ट कर रहा हूं कि अगर उन्होंने ऐसा किया किया तो हम उन्हें पूरी तरह से खत्म कर देंगे।”

इतिहास में सबसे दक्षिणपंथी सरकार प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतनयाहू की गठबंधन के प्रमुख सदस्यों में लिबरमैन को सबसे अधिक फिलिस्तीन विरोधी गिना जाता है। वो सुरक्षा मामलो पर बेहद कट्टरपंथी विचार रखते हैं। लेकिन वे संघर्ष भूमि को अदला-बदली के आधार पर दो राज्य के समाधान में विश्वास रखते हैं। उन्होंने साक्षात्कार में इजरायल कब्जे वाले वेस्ट बैंक के शेष हिस्से के बारे में बार-बार दोहराया कि वे उसका सामाधान शांतिपूर्ण चाहते हैं।
लिबरमैन ने मई महीने में फलिस्तिनी प्रधानमंत्री महमूद अब्बास की आलोचना किया था और कहा था कि महमूद अब्बास शांति समझौते में एक बाधा हैं।

उन्होंने भविष्यवाणी किया कि महमूद अब्बास अपना अगला चुनाव हार जाएंगे। उन्होंने कहा कि फिलीस्तीनी समझदार लोग हैं। वे इस स्थिति को समझते हैं। अगर उन्हें वहाँ हमास और इसराइल के बीच में एक को चुनने को कहा जाए तो वे इजराइल के साथ साझेदारी करने के पक्ष में खड़े होंगे। सोशल मीडिया पर अल-कुद्स को इस इंटरव्यू के लिए फिलिस्तीनियों का भारी विरोध झेलना पड़ रहा है।

TOPPOPULARRECENT