Friday , October 20 2017
Home / Assam / West Bengal / बीरभूम-हिंदू युवक क्यों खरीदना चाहते थे गाय के सिर? कहीं कोई साजिश तो नहीं रची जा रही थी

बीरभूम-हिंदू युवक क्यों खरीदना चाहते थे गाय के सिर? कहीं कोई साजिश तो नहीं रची जा रही थी

पश्चिम बंगाल के बीरभूम ज़िले में एक सनसनीखेज़ घटना सामने आई है। दरअसल  रामनवमीं के दिन राजनगर मीट बाज़ार में तीन युवक गाय का सिर खरीदने पहुंचे थे । मीट की दुकान पर ये युवक गाय के सिर खरीदने पहुंचे और गाय के सिर मांगने लगे, युवकों ने इसके लिए मुंह मांगी कीमत देने की बात भी कही।

युवकों की हरकत पर स्थानीय लोगों को शक हुआ। बातचीत करने पर मालूम चला कि गाय का सिर मांगने वाले तीनों युवक हिंदू हैं। लोगों को आशंका थी कि ये युवक गाय का सिर ले जाकर संवेदनशील स्थलों पर फेंक कर सांप्रदायिक तनाव पैदा कर सकते हैं।

Altnews में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक स्थानीय पत्रकार खान साहिल मज़हर ने घटना की तस्वीर और वीडियो भेजा है। जिसमें तीन हिंदू युवक पांच गाय के सिर मीट बाज़ार से खरीदने की कोशिश कर रहे हैं।
हालांकि उस मीट की दुकान में केवल तीन सिर ही थे। यह लोग गाय के सिर के लिए मुंहमांगी कीमत देने के लिए तैयार थे। मीट की दुकान के पास चमड़े का व्यापार करने वाले एक शख्स को शक हुआ कि ये लोग गाय के सिर का क्या करेंगे क्योंकि तीनों युवक गाय के सिर के लिए कोई भी कीमत चुकाने को तैयार थे।

कसाई ने अपना शक दूर करने के लिए जब तीनों युवकों से पूछताछ की तो उन्होंने अपना नाम सूफ़ल दास बताया । और कहा कि वो तंतिपारा गांव के हैं लेकिन उनमें से एक ने पहले बताया था कि वो  लोकपुर, बीरभूम से हैं और बाद में खुद को कुलदंगा, झारखंड का बताने लगे

 

स्थानीय लोगों ने जब पूछा कि गाय के सिर क्यों चाहिए तो युवकों ने अजीब सी वजह दी । उन्होंने बताया कि एक रोगी के इलाज के लिए शोध के उद्देश्य से स्थानीय डॉक्टर ने गाय के सिर लाने के लिए कहा है। अपनी ही बात में उलझते देख उन में से एक व्यक्ति भाग गया ।

इस घटना की सूचना मिलते ही इलाके में सनसनी फैल गई ।लोगों ने तीनों युवकों की तस्वीर पुलिस को देकर मामले की जांच करने की अपील की है

पश्चिम बंगाल केरल, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, नागालैंड, मिजोरम, त्रिपुरा और सिक्किम के साथ भारत में कुछ राज्यों में गौकशी को कानूनी तौर पर अनुमति है।

TOPPOPULARRECENT