Thursday , October 19 2017
Home / World / गिलानी की सुप्रीम कोर्ट हुक्मनामा के ख़िलाफ़ अपील दाख़िल

गिलानी की सुप्रीम कोर्ट हुक्मनामा के ख़िलाफ़ अपील दाख़िल

ईस्लामाबाद, ०९ फ़रवरी (पी टी आई) मुख़्तलिफ़ ममालिक जैसे हिंदूस्तान में फ़ाज़िल अदालतों की क़ायम कर्दा मिसालों का हवाला देते हुए वज़ीर-ए-आज़म पाकिस्तान यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने आज सुप्रीम कोर्ट में अपील दाख़िल की कि उन्हें सदर के ख़िलाफ़ रिश्

ईस्लामाबाद, ०९ फ़रवरी (पी टी आई) मुख़्तलिफ़ ममालिक जैसे हिंदूस्तान में फ़ाज़िल अदालतों की क़ायम कर्दा मिसालों का हवाला देते हुए वज़ीर-ए-आज़म पाकिस्तान यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने आज सुप्रीम कोर्ट में अपील दाख़िल की कि उन्हें सदर के ख़िलाफ़ रिश्वत के मुआमले दुबारा खोलने में इन की नाकामी पर तहक़ीर अदालत के इल्ज़ामात वज़ा करने के लिए तलब करने वाला हुक्मनामा मुअत्तल कर दिया जाए।

चीफ़ जस्टिस इफ़्तिख़ार चौधरी ने फ़ैसला किया कि ख़ुद उन की सरबराही में आठ जज की बंच इस अपील पर कल समात करेगी। गिलानी के वकील ऐतज़ाज़ अहसन (Aitzaz Ahsan) की दाख़ी कर्दा 200 सफ़हात की अपील ने फ़ाज़िल अदालत से इस्तिदा की कि वज़ीर-ए-आज़म को 13 फ़रवरी को तलब करने के अपने फ़ैसले को मुअत्तल कर दें।

अहसन ने अदालत के बाहर सहाफ़ीयों को बताया कि उन्होंने ये अपील हिंदूस्तान, आस्ट्रेलिया, बर्तानिया, फ़्रांस और अमरीका की फ़ाज़िल अदालतों की मुक़र्ररा मिसालों पर की है। हिंदूस्तान में फ़ाज़िल अदालत के हुक्मनामा के ख़िलाफ़ मुराफ़ा दाख़िल करने की गुंजाइश मौजूद है। अहसन ने कहा, मैंने आज अपील दाख़िल कर दी ।

मैंने ज़ाइद अज़ 50 क़ौमी और बैन-उल-अक़वामी मुआमलों के हवाले दिए और सुप्रीम कोर्ट हुक्मनामा के ख़िलाफ़ वजूहात की ख़ुसूसीयत से सर अहित की है।

TOPPOPULARRECENT