Monday , October 23 2017
Home / India / गीतिका ख़ुदकुशी केस : साबिक़ वज़ीर कांडा की ख़ुदसपुर्दगी

गीतिका ख़ुदकुशी केस : साबिक़ वज़ीर कांडा की ख़ुदसपुर्दगी

हरियाणा के मुतनाज़ा साबिक़ वज़ीर गोपाल कांडा ने अपनी साबिक़ मुलाज़िमा गीतीका शर्मा की ख़ुदकुशी के वाक़िया में दिल्ली कोर्ट की जानिब से अपनी दरख़ास्त ज़मानत मुस्तर्द करदिए जाने के बाद आज सुबह की अव्वलीन साअतों मैं ख़ुद को पुलिस के सपुर्द करदिया। वो गुज़िश्ता 10 दिन से मफ़रूर-ओ-रुपोश थे।

इन के एक भाई को पुलिस ने कल रात ड्रामाई अंदाज़ में गिरफ़्तार करलिया था। शुमाल मग़रिबी दिल्ली में तायनात सादा लिबास मुलाज़मीन पुलिस ने गोपाल कांडा को रात के आख़िरी पहर देखा था, जिस से ये अंदाज़ा होगया था कि वो ख़ुद को पुलिस के सपुर्द करदेंगे। गोपाल कांडा एक वयान पर प्रैस का असटीकर लगाकर पुलिस स्टेशन पहूंचे थे जिस के साथ ही वहां मौजूद मुलाज़मीन पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया।

शुमाल मग़रिबी दिल्ली के डिप्टी कमिशनर पुलिस पी करूणा करण ने कहा कि कांडा ने सपुर्द करदिया और हम उन्हें गिरफ़्तार करचुके हैं। पुलिस स्टेशन में दाख़िल होने से क़बल कांडा ने वहां उन के मुंतज़िर मीडीया के नुमाइंदों से कहा कि वो तहक़ीक़ात में तआवुन के लिए वो अपनी मर्ज़ी के मुताबिक़ ख़ुद सपुर्द होरहे हैं।

दिल्ली हाइकोर्ट ने उन की दरख़ास्त ज़मानत क़बल अज़ गिरफ़्तारी को मुस्तर्द करते हुए कहा था कि आज़ाद रहने के बावजूद उन्हों ने अपनी दरख़ास्त दायर नहीं की थी, जो इस दरख़ास्त को मुस्तर्द करने केलिए काफ़ी वजह है। गीतीका के भाई अंकीत ने गोपाल कांडा की ख़ुदसपुर्दगी को मंसूबा बंद ड्रामा क़रार दिया।

गोपाल कांडा के भाई कल आधी रात बाद ये बताने केलिए पुलिस स्टेशन पहूंचे थे कि इन के भाई ख़ुदसपुर्दगी करेंगे लेकिन पुलिस ने उन्हें भी गिरफ़्तार करलिया था और उन पर अपने मफ़रूर भाई-ओ-साबिक़ वज़ीर को पनाह देने का इल्ज़ाम आइद किया था। गोपाल कांडा पर अपनी साबिक़ मुलाज़िमा को दर्राने धमकाने और ख़ुदकुशी केलिए मजबूर करने का इल्ज़ाम है।

TOPPOPULARRECENT