Wednesday , October 18 2017
Home / Khaas Khabar / गुजरात दंगे पर नानावटी कमीशन ने 12 साल बाद सौंपी आखिरी रिपोर्ट

गुजरात दंगे पर नानावटी कमीशन ने 12 साल बाद सौंपी आखिरी रिपोर्ट

गोधरा दंगे के 12 साल बाद जस्टिस जीटी नानावटी कमिशन ने मंगल के रोज़ अपनी रिपोर्ट गुजरात की वज़ीर ए आला आनंदीबेन पटेल को सौंप दी। जस्टिस नानावटी ने कहा था कि फाइनल रिपोर्ट तैयार है और हम इसे जल्द ही वज़ीर ए आला को सौंप देंगे।

गोधरा दंगे के 12 साल बाद जस्टिस जीटी नानावटी कमिशन ने मंगल के रोज़ अपनी रिपोर्ट गुजरात की वज़ीर ए आला आनंदीबेन पटेल को सौंप दी। जस्टिस नानावटी ने कहा था कि फाइनल रिपोर्ट तैयार है और हम इसे जल्द ही वज़ीर ए आला को सौंप देंगे।

वज़ीर ए आला को आखिरी रिपोर्ट सौंपने से पहले नानावटी कमिशन ने 24 मरतबा दिन बढवाए थे। इस बार रिपोर्ट सौंपने की आखिरी 31 अक्टूबर थी। 2008 में इंक्वॉयरी पैनल ने गोधरा स्टेशन पर ट्रेन में लगी आग पर अपनी रिपोर्ट के एक हिस्से को सौंपा था।

इस रिपोर्ट में कहा गया था कि साबरमती एक्सप्रेस के एस-6 कोच में गोधरा रेलवे स्टेशन पर एक साजिश के तहत आग लगाई गई थी। यह जांच कमीशन रिटायर जस्टिस जीटी नावावटी और अक्षय मेहता की कियादत में काम कर रहा था। जस्टिस केजी शाह की कियादत में इस कमीशन की तश्कील गुजरात सरकार ने 2 मार्च 2002 को किया था।

27 फरवरी 2002 को गुजरात के गोधरा स्टेशन पर साबरमती ट्रेन के एस-6 कोच में आग लगी थी। इसके बाद पूरे गुजरात में फिर्कावाराना दंगे की वारदात होने लगी थी। 2008 में जस्टिस केजी शाह की मौत के बाद हाई कोर्ट के रिटायर जज अक्षय मेहता को तकर्रुर किया गया था।

TOPPOPULARRECENT