Friday , October 20 2017
Home / Khaas Khabar / गुजरात में जासूसी पर राहुल और प्रियंका गांधी की तन्क़ीद

गुजरात में जासूसी पर राहुल और प्रियंका गांधी की तन्क़ीद

राहुल गांधी जासूसी के तनाज़े पर नरेंद्र मोदी की मज़म्मत में अपनी हमशीरा प्रियंका गांधी के साथ शामिल होगए। उन्होंने कहा कि हुकूमत गुजरात ख़वातीन का कोई एहतेराम नहीं करती। उनके टेलीफ़ोन टयाप किए जाते हैं। वो हर गांव में एक इंतेख़ाबी

राहुल गांधी जासूसी के तनाज़े पर नरेंद्र मोदी की मज़म्मत में अपनी हमशीरा प्रियंका गांधी के साथ शामिल होगए। उन्होंने कहा कि हुकूमत गुजरात ख़वातीन का कोई एहतेराम नहीं करती। उनके टेलीफ़ोन टयाप किए जाते हैं। वो हर गांव में एक इंतेख़ाबी जलसे से ख़िताब कररहे थे।

उन्होंने इल्ज़ाम आइद किया कि मोदी ने 45 हज़ार एकर‌ ज़रई अराज़ी एक सनअतकार को दे दी। हालाँकि आज तक भी इस अराज़ी पर कोई कारख़ाना क़ायम नहीं किया गया। उन्होंने दावा किया कि गुजरात के किसान फ़ाक़ाकशी से मौत का शिकार होजाते अगर मर्कज़ी हुकूमत ने देही रोज़गार तमानीयत स्कीम पर अमल आवरी ना की होती।

नायब सदर कांग्रेस ने कहा कि हुकूमत गुजरात ख़वातीन का कोई एहतेराम नहीं करती और उनके फ़ोन टयाप करती है जबकि कांग्रेस ख़वातीन का एहतेराम करती और उन्हें बाइख़तियार बनाती है। तन्क़ीद जारी रखते हुए राहुल गांधी ने कहा कि गुजरात की मिसाली तरक़्क़ी क्या यही है अगर यू पी ए हुकूमत ने देही रोज़गार तमानियत स्कीम राइज ना की होती तो किसान फ़ाक़ाकशी से मौत का शिकार होजाते।

यू पी की समाजवादी पार्टी हुकूमत पर तन्क़ीद करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि रियासत के नौजवान रोज़गार की तलाश में रियासत से बाहर जा रहे हैं। महाराष्ट्र जाने पर उन्हें ज़द्द-ओ-कूब किया जाता है और वतन वापिस होने पर मजबूर किया जाता है। मायावती को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए उन्होंने कहा कि अपने दौर-ए-इक्तदार में उन्होंने ग़रीब किसानों की ज़मीनों पर क़ब्ज़े किए और ज़बरदस्त जमा करली।

TOPPOPULARRECENT