Friday , August 18 2017
Home / Crime / गुजरात: 14 वर्षीय रेप पीड़िता के 28 सप्ताह के गर्भ का अबार्शन की इजाज़त देने से कोर्ट का इनकार

गुजरात: 14 वर्षीय रेप पीड़िता के 28 सप्ताह के गर्भ का अबार्शन की इजाज़त देने से कोर्ट का इनकार

अहमदाबाद: गुजरात उच्च न्यायालय ने सोमवार को 14 वर्षीय  रेप पीड़िता को मेडिकल रिपोर्ट का हवाला देते हुए
अबार्शन की इजाज़त देने से मना कर दिया की 28 सप्ताह का भ्रूण ख़त्म करने से माँ का जीवन खतरे में पड़ जायेगा|जस्टिस सोनिया गोकनी ने मेडिकल एक्सपर्ट की रिपोर्ट का हवाला देते हुए ये फ़ैसला सुनाया है |

हालाँकि अदालत ने राज्य सरकार को निर्देश दिया कि वे विभिन्न योजनाओं के तहत बच्चे के जन्म के बाद पीड़िता और बच्चे की देखभाल करें | अदालत ने सरकारी वकील से कहा कि  महिला के निवास राजकोट जिले के धोराजी के आसपास काम कर रहे सरकारी और ग़ैर सरकारी संगठन का ब्योरा देने के साथ जस्टिस गोकनी ने सरकारी योजनाओं और अनाथालयों की लिस्ट भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं |

गौरतलब है कि नाबालिग से कथित तौर पर लगभग सात महीने पहले धोराजी में उसके पिता के एक दोस्त ने रेप किया था।
1 अगस्त को धोराजी पुलिस थाने में एफ़आईआर दर्ज करायी गयी थी | पीड़िता के माता पिता ने पिछले हफ्ते हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की थी कि पीड़िता के अबार्शन की इजाज़त दी जाए क्यूँकि इस घटना उसके  मानसिक और शारीरिक आघात का कारण बनी हुई है |
इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। कोर्ट ने इससे पहले सोला सिविल अस्पताल का निर्देश दिया था पीड़िता की शारीरिक और मानसिक जांच की जाए । मेडिकल रिपोर्ट में कहा गया था कि भ्रूण समाप्त नहीं किया जा सकता |  पीड़िता की मानसिक जाँच के बारे में बताते हुए कहा गया था कि वे मानसिक तौर पर ठीक है|

TOPPOPULARRECENT