Sunday , October 22 2017
Home / Hyderabad News / गुस्ताखाना फ़िल्म पर अमरीका फ़ौरी आलमॆ इस्लाम से माज़रत ख़्वाही(पशॆमान हुना) करे

गुस्ताखाना फ़िल्म पर अमरीका फ़ौरी आलमॆ इस्लाम से माज़रत ख़्वाही(पशॆमान हुना) करे

शानॆ रसालत पर गुस्ताखाना फ़िल्म , बेखुसूर मुसलिम नौजवानों की गिरफ़्तारी और आसाम के मुस्लमानों के ख़िलाफ़ बोडो तशद्दुद जैसे अहम मसाइल पर(परॆशनि) यूनाइटेड मुसलिम फ़ोर्म के ज़ेर एहतिमाम 30 सितंबर के बाद एहितजाजी जल्सा-ए-आम मुनाक़िद किय

शानॆ रसालत पर गुस्ताखाना फ़िल्म , बेखुसूर मुसलिम नौजवानों की गिरफ़्तारी और आसाम के मुस्लमानों के ख़िलाफ़ बोडो तशद्दुद जैसे अहम मसाइल पर(परॆशनि) यूनाइटेड मुसलिम फ़ोर्म के ज़ेर एहतिमाम 30 सितंबर के बाद एहितजाजी जल्सा-ए-आम मुनाक़िद किया जाएगा ।

मौलाना अबदुर्रहीम कुरैशी ने आज प्रेस कान्फ़्रैंस से ख़िताब के दौरान ये बात बताई । उन्हों ने बताया कि गैर सयासी तनज़ीमों(जमात‌) के सरबराहान(साथ दॆनॆ वालॆ) ने यूनाइटेड मुसलिम फ़ोर्म गुस्ताखाना फ़िल्म की तय्यारी पर अमरीका की ख़ामोशी की मुज़म्मत की है ।

उन्हों ने बताया कि फ़ोर्म फ़िल्म की शदीद मुज़म्मत करते हुए अमरीकी सदर बारक ओबामा और हुकूमत अमरीका से मुतालिबा करता है कि वो फ़ौरी आलमॆ इस्लाम से माज़रत ख़्वाही(पशॆमान हुना) करे ।

उन्हों ने ओबामा की इस संगीन मसला पर ख़ामोशी को हैरत नाक अफ़सोसनाक क़रार देते हुए कहा कि ताहाल(इस वखत‌) अमरीकी सदर ने इस फ़िल्म के ख़िलाफ़ एक जुमला भी अदा नहीं किया है ।

इस मौखॆ पर मौलाना रहीम अलुद्दीन अंसारी , मौलाना मुहम्मद हुसाम अलुद्दीन सानी जाफ़र पाशाह , मुफ़्ती मेराज अलुद्दीन इबरार , जनाब मुनीर अलुद्दीन मुख़तार हाफ़िज़ मुहम्मद उसमान नक़्शबंदी , मौलाना तक़ी रज़ा आब्दी , मौलाना सफ़ी अहमद मदनी , मौलाना मुहम्मद अबदुलग़फ़्फ़ार ख़ां सलामी , हाफ़िज़ ज़फ़र अहमद जमील मौजूद थे ।

मौलाना अबदुर्रहीम कुरैशी ने बताया कि फ़ोर्म ने फैसला किया है कि जल्द अज़ जल्द अमरीकी कौंसिल जनरल मतीना हैदराबाद से मुलाक़ात कर के एहतिजाज किया जाय और उन्हें याददाश्त की पेश कुशी के ज़रीया गुस्ताखाना फ़िल्म पर मुकम्मल पाबंदी-प्रोड्यूसर के ख़िलाफ़ कार्रवाई का मुतालिबा किया जाय ।
उन्हों ने मज़ीद बताया कि मुत्तहदा(ऎक साथ‌) मुसलिम फ़ोर्म के क़ाइदीन चीफ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी से भी मुलाक़ात कर के मुसलिम नौजवानों की गिरफ़्तारी और दीगर रियासतों को मुंतक़ली(तबदिलि) पर नुमाइंदगी करने का फैसला किया है ।

मौलाना रहीम अलुद्दीन अंसारी ने बताया कि फ़ोर्म के इजलास में मुख़्तलिफ़ नकात का जायज़ा लेने के बाद इस बात का मुतालिबा किया गया कि जिन मुसलिम मुमालिक के अमरीका के हमराह हवालगी मुजरमीन मुआहिदे हैं उन के तहत फ़िल्म के प्रोड्यूसर , डायरैक्ट दीगर ख़ातियों को हवाले करने का मुतालिबा किया जाय ।
फ़ोर्म के इजलास में हकूमतहिन्द की जानिब से गुस्ताखाना फ़िल्म की नशरियात को रोकने की इक़दामात की सताइश की गई और वज़ारत ख़ारजा की जानिब से दर्ज करवाए गए एहतिजाज की भी सराहना की गई ।

मौलाना रहीम अलुद्दीन अंसारी ने बताया कि बहुत जल्द फ़ोर्म जल्सा आम के इनइक़ाद की तारीख का ऐलान करेगा ।
मौलाना अबदुर्रहीम कुरैशी ने आसाम में मुसलिम आबादियों पर बोडो हमलों की मुज़म्मत करते हुए कहा कि हुकूमत की जानिब से मुसलिम आबादियों के तहफ़्फ़ुज़(ह्फाज़त‌) के लिये कोई इक़दामात नहीं किए गए ।

उन्हों ने बताया कि सरकारी आदाव शुमार के मुताबिक़ आज भी ज़ाइद अज़ 4 लाख मुस्लमान राहत कारी कैंपों में ज़िंदगी गुज़ारने पर मजबूर हैं ।

उन्हों ने कहा कि आज भी हकूमत हिन्द के महिकमा दाख़िला में मुतअस्सिब आर स स ज़हनियत के ओहदेदार बरसर ख़िदमत हैं । जो इस बात की पर्दापोशी कररहे हैं कि बंगला देशी हिन्दू दर अंदाज़ सरहद उबूर(पार‌) करते हुए हिंदूस्तान में क़ियाम(रह रहॆ हो) कररहे हैं ।

उन्हों ने बताया कि दिल्ली , उत्तरप्रदेश और पंजाब में बंगला देशी हनदोवा की बड़ी तादाद आबाद है ।।

TOPPOPULARRECENT