Wednesday , August 16 2017
Home / India / गृह मंत्रालय ने अब शबनम हाशमी के एनजीओ ‘अनहद’ का एफसीआरए लाइसेंस किया कैंसिल

गृह मंत्रालय ने अब शबनम हाशमी के एनजीओ ‘अनहद’ का एफसीआरए लाइसेंस किया कैंसिल

नई दिल्ली : अनहद ने आज एक प्रेस रिलीज़ जारी करते हुए बताया कि मीडिया सूत्रों से पता चला है कि सामाजिक कार्यकर्ता शबनम हाशमी के एनजीओ ‘अनहद’  का विदेशी अंशदान नियमन अधिनियम (एफसीआरए) कैंसिल कर दिया है |

जून 2014 में मोदी के प्रधानमन्त्री बन जाने के बाद भी अनहद को जाँच का सामना करना पड़ा था | नवंबर 2015 में गृह मंत्रालय ने दूसरी जांच के दौरान गृह मंत्रालय को मैटिरियल से भरे हुए 4 ट्रंक भेजे गये थे | मार्च 2016 में एफसीआरए को रिन्यू किये जाने के बाद आज फिर ये कैंसिल कर दिया गया |

अनहद ने अपनी प्रेस रिलीज़ में कहा कि ये पूरा मामला नोटबंदी की तरह है | केंद्र सरकार को खुद नहीं मालूम वह क्या करना चाहती हैऔर क्या नहीं | ये पूरी तरह से नाकाम और फ़ासीवादी सरकार है |अगर  यह एफसीआरए कैंसिल करना था तो इसे नवंबर 2015 की जांच के बाद  कर देना चाहिए था| एफसीआरए को रिन्यू क्यों किया गया था और अब इसे कैंसिल क्यों दिया है?

उन्होंने कहा कि रक्षा सहित कई क्षेत्रों में 100% एफडीआई का समर्थन करने वाली ये सरकार अपने ख़िलाफ़ उठने वाली आवाज़ के लिए मिलने वाले फंड को बर्दाश्त नहीं कर सकती है |  अनहद से न केवल  विदेशी मदद के बारे में पूछताछ की गयी थी बल्कि देश के भीतर से अनहद को 10,000 से अधिक रुपये का दान देने वालों को भी नोटिस भेजा गया था | अनहद और इस तरह के अन्य संगठनों को मिलने वाले समर्थन को दबाया जा रहा है |

अनहद का कहना है कि हम इस तरह के कड़े फैसलों के ख़िलाफ़ नहीं झुकेंगे | आज के दौर में सरकार जिस तरह के ‘राष्ट्रीय हित’, ‘राष्ट्रवाद’ और ‘देशभक्ति’ की बात कर रही है हमे वो स्वीकार नहीं है | वर्तमान सरकार द्वारा पिछले तीन वर्षों के दौरान बौद्धिक गतिविधि और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के हर क्षेत्र में हमले किये जा रहे हैं | हम पर किया गया ये हमला भी उसी की एक कड़ी है |

उन्होंने कहा कि हमारे एफसीआरए को कैंसिल करना इस बात का सुबूत है कि हमने हमेशा वंचित और शोषित लोगों के हक़ के लिए आवाज़ उठायी है |हम भारत के लोगों के संवैधानिक अधिकारों पर हमले का विरोध करते रहेंगे|

गौरतलब है कि इससे पहले मंगलवार को सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ द्वारा चलाए जा रहे एनजीओ का लाइसेंस रिन्यू किया गया|  लेकिन गृह मंत्रालय ने रिन्यू होने के दूसरे दिन बुधवार को गृह मंत्रालय ने इसे कैंसिल कर दिया था |

TOPPOPULARRECENT