Saturday , October 21 2017
Home / India / गैर मोअयना ( अनिश्चित कालीन) भूख हड़ताल पर टीम अन्ना की मुख़्तलिफ़ आरा

गैर मोअयना ( अनिश्चित कालीन) भूख हड़ताल पर टीम अन्ना की मुख़्तलिफ़ आरा

अन्ना हज़ारे और उन की टीम ने कल से शुरू होने वाली गैर मीना मुद्दत की भूक हड़ताल के बारे में आज मुख़्तलिफ़ लहजा में बात की जिस में आला समाजी कारकुन ने अदा किया कि ये लोक पाल बिल के लिए है जबकि उन के मददगारों ने कहा कि ये उन के तीन मुतालिबात

अन्ना हज़ारे और उन की टीम ने कल से शुरू होने वाली गैर मीना मुद्दत की भूक हड़ताल के बारे में आज मुख़्तलिफ़ लहजा में बात की जिस में आला समाजी कारकुन ने अदा किया कि ये लोक पाल बिल के लिए है जबकि उन के मददगारों ने कहा कि ये उन के तीन मुतालिबात तक महिदूद ( सीमित) है जिन में मर्कज़ी वुज़रा ( केंद्रीय मंत्री) के ख़िलाफ़ इल्ज़ामात की ख़ुसूसी तहकीकात शामिल है।

हज़ारे ने यू पी ए हुकूमत को अल्टीमेटम दिया कि इस मसला पर अंदरून चार यौम फैसला कर लें जिस में नाकामी पर उन्होंने एतवार ( रविवार) से भूक हड़ताल शुरू कर देने की धमकी दी। हज़ारे ने क़बल अज़ीं ( इससे पहले) दिन में ऐलान किया था कि वो कल की भूख हड़ताल में दीगर ( अन्य) टीम अन्ना अरकान ( सदस्यों) के साथ शामिल होंगे ।

बाद में उन्होंने कहा कि भूख हड़ताल की वजह वो कल धरना मुनज़्ज़म ( संगठित) करेंगे । क़बल अज़ीं एक वीडियो पयाम के ज़रीया उन्होंने हुकूमत की जानिब से इस मुतालिबा पर कार्रवाई ना होने पर जेल भरो एजीटेशन की अपील की थी । इस दौरान एक प्रेस कान्फ्रेंस में टीम अन्ना के मुतालिबात के ताल्लुक़ से सवालात उठाए गए क्योंकि हज़ारे ने सिर्फ लोक पाल बिल के ताल्लुक़ से बात की है जबकि उन के करीबी मददगारों अरविंद केजरीवाल और प्रशांत भूषण ने दीगर ( अन्य) तीन मुतालिबात की बाबत लब कुशाई की।

इस मौक़िफ़ ( निश्चय) की वज़ाहत चाहने पर कि आया लोक पाल बिल उस एहतिजाज ( विरोध) का असल मसला है, भूषण ने कहा कि इन का एहतिजाज वुज़रा के ख़िलाफ़ इस आई टी इंक़्वायरी , एम पीज़ के ख़िलाफ़ मुक़द्दमात की समाअत के लिए फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट और पार्टी सरबराहों के ख़िलाफ़ इल्ज़ामात की तहकीकात के लिए एस आई टी की तशकील तक महिदूद ( सीमित)है।

ताहम ( यद्वपि) हज़ारे ने फ़ौरी ( फौरन) माईक्रो फ़ोन ले लिया और कहा कि ये जद्द-ओ-जहद लोक पाल बिल के लिए है और मज़ीद ( इसके अतिरिक्त) कहा कि बद उनवान वुज़रा ( भ्रष्ट मंत्री/ Corrupt ministers) को जेल में डालने तक मुल्क में इंसिदाद बदउनवानी (नियम विरुद्वता) सिस्टम नहीं होगा।

TOPPOPULARRECENT