Tuesday , September 26 2017
Home / Education / गोरखपुर: माहिर टेक्नोलॉजी ‘अहमद उमर सिद्दीकी’ को मिला बेस्ट NRI 2016 अवार्ड

गोरखपुर: माहिर टेक्नोलॉजी ‘अहमद उमर सिद्दीकी’ को मिला बेस्ट NRI 2016 अवार्ड

गोरखपुर: नेनो टेक्नोलॉजी के मैदान में दुनियां में विशिष्टता पाने वाले नोजवान अहमद उमर सिद्दीकी ने गोरखपुर और बस्ती समेत देश का नाम रोशन किया है, इस नोजवान साइंटिस्ट के रोल मोडल मिज़ाइल मेन और पूर्व राष्ट्रपति ए पी जे अब्दुल कलाम रहे हैं. विश्व स्तर के प्रमुख साइंस और टेक्नोलॉजी वाले जनर्ल्स (मैगज़ीन) में उन के 375 रिसर्चबल थीसिस पब्लिश हो चुके हैं, हिंदुस्तान का यह अग्रणी सुपूत एक ऐसा कोहनूर हीरा है जो अपनी प्रकाश से इस समय सऊदी अरब की ‘नजरान यूनिवर्सिटी’ को प्रकाशित कर रहा है.

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

बस्ती के प्रमुख वकील मुहम्म्म्द उमर सिद्दीकी का बेटा अहमद उमर सिद्दीकी बचपन से शिक्षा में होनहार रहा है, उन्होंने प्राइमरी एजुकेशन बस्ती से ही प्राप्त की और फिर खैर इंटर कोलेज से इंटर मिडियट की, शिक्षा प्राप्त करने के बाद उपमहाद्वीप की मशहूर यूनिवर्सिटी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया. वहां से उन्हों मास्टर ऑफ़ साइंस की डिग्री प्राप्त की और पीएचडी के लिए दक्षिण कोरिया चले गए वहां उन्होंने केमिकल इंजिनयरिंग में स्पेश्लाईजेशन में डिग्री प्राप्त की.

2016 के NRI कांफेरेंसे में बेस्ट NRI अवार्ड मिला हिंदुस्तान आने पर एक उर्दू अखबार से बातचीत करते हुए सिद्दीकी ने बताया कि हिंदुस्तान में पर्यावरण प्रदूषण और बिजली इशुज़ से निपटने के लिए टेक्नोलॉजी एक वरदान साबित हो सकती है, इस टेक्नोलॉजी के मदद से भारत के इन दोनों संगीन इशु को आसानी से हल किया जा सकता है. अलीगढ मुस्लिम यूनवर्सिटी से MSC करने के बाद डॉक्टर मुहम्मद उमर 2004 में दक्षिण कोरिया चोम्बक यूनिवर्सिटी में पीएचडी करने चले गए थे.

टेक्नोलॉजी में उसकी महान सेवाओं को देखते हुए पूरी दुनियां में उनकी पहचान सबसे नोजवान माहिर टेक्नोलॉजी के तौर पर की जाती है, टेक्नोलॉजी पर वह अबतक 12 लोकप्रिय किताबें लिख चुके हैं, अमरीका समेत दुनिया के सभी नामचीन कोलेजों में इनकी किताबें पढ़ी जाती हैं, इन में मेटल ऑक्साईड, नेनो स्ट्रक्चर एंड वियर एप्लीकेशन काफी अहम् है. 7 भागों में लिखी गई इस किताब की कीमत 1 लाख रूपये से ज़्यादा हैं. टेक्नोलॉजी में इन की अपार कामयाबी को देखते हुए दुनियां के प्रमुख मैगजीनों में अबतक इन के 375 रिसर्चबल थीसिस पब्लिश हो चुके हैं. अहमद उमर सिद्दीकी अपने देशभक्ति के जज़्बे से परिपूर्ण हैं, उन्होंने ने कहा कि वह अपनी क्षमता और सेवाओं को अपने देश भारत को पेश करना चाहते हैं. अगर उनका देश टेक्नोलॉजी के सिलसिले में उनकी सेवाओं का लाभ लेना चाहता है तो वह हमेशा आगे रहेंगे. उन्होंने कहा कि टेक्नोलॉजी के श्रेणी में विश्व में भारत को एक प्रतिष्ठित दर्जा दिलाने की ख्वाहिश रखते हैं.

अहमद उमर सिद्दीकी को विश्व स्तर पर नेनो टेक्नोलॉजी के श्रेणी में बहुत सारे अवार्ड और मेडल्स मिल चुके हैं, लेकिन 2016 के बेस्ट NRI के अवार्ड को वह अपने हर अवार्ड से बड़ा मानते हैं, अहमद सिद्दीकी के अनुसार प्यारा देश भारत ने उनको जो सम्मान यह अवार्ड दे कर दिया है उसकी तुलना दुनियां के किसी भी अवार्ड से नहीं की जा सकती. उन्हों ने कहा इस अवार्ड ने मेरे दिल को छू लिया है. अहमद उमर सिद्दीकी ने कहा कि टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से हिन्दुतान में क्रांतिकारी बदलाव आ सकता है. आने वाला कल इस टेक्नोलॉजी के बलबूते काफी बदला हुआ नजर आएगा.

TOPPOPULARRECENT