Tuesday , July 25 2017
Home / Goa / गोवा चुनाव में मेरी बात नहीं मानी गई वर्ना कांग्रेस की सरकार बनती- दिग्विजय सिंह

गोवा चुनाव में मेरी बात नहीं मानी गई वर्ना कांग्रेस की सरकार बनती- दिग्विजय सिंह

NEW DELHI, INDIA - MAY 22: Congress General Secretary and Rajya Sabha MP Digvijay Singh addressing a press conference after the completion of one year of Modi Government at AICC on May 22, 2015 in New Delhi, India. Targetting the one-year rule of Modi government, Congress General Secretary said that while the Prime Minister is busy 'beating drums' and 'playing violin' from Japan to Monglia, a grave agrarian crisis of unprecedented scale plagues the farm sector. (Photo by Sonu Mehta/Hindustan Times via Getty Images)

पणजी। गोवा चुनावों पर आलोचना का सामना कर रहे अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव दिग्विजय सिंह ने आज कहा कि चुनाव से पहले गोवा फारवर्ड पार्टी के साथ गठबंधन का उनका प्रस्ताव उनकी ही पार्टी के नेताओं ने ही नकार दिया था।

दिग्विजय गोवा में पार्टी के प्रभारी हैं। उन्होंने कहा कि गोवा फारवर्ड पार्टी के साथ गठबंधन हो जाता तो कांग्रेस को राज्य में बहुमत मिलता और अब इस मामले में उन्हें खलनायक बनाना ठीक नहीं है।

सिंह ने सोशल मीडिया ट्विटर में सिलसिलेवार ट्वीट करके बताया, रणनीति के तहत मैंने बाबुश मोनसराटेट की अगुवाई वाली क्षेत्रीय पार्टी और विजय सरदेसाई की गोवा फारवर्ड पार्टी के साथ एक धर्मनिरपेक्ष गठबंधन का प्रस्ताव दिया था।

उन्होंने कहा, बाबुश के साथ हमारा गठबंधन हो गया और हमने पांच में से तीन सीटों पर जीत हासिल की, जबकि गोवा फारवर्ड पार्टी के साथ गठबंधन को हमारे ही नेताओं ने नकार दिया। दुखद।

उल्लेखनीय है कि पणजी विधानसभा में कांग्रेस ने एंटासियो :बाबुश: मोनसराटेट की यूनाइटेड गोवा पार्टी के साथ गठबंधन किया था और उनके चार समर्थकों को पार्टी का टिकट दिया था। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, गोवा फारवर्ड को चार में से तीन सीटों पर जीत मिली।

TOPPOPULARRECENT