Monday , August 21 2017
Home / India / गोवा में खानाबदोश जनजाति लमाणी पर प्रतिबंध लगा दिया जाना चाहिए

गोवा में खानाबदोश जनजाति लमाणी पर प्रतिबंध लगा दिया जाना चाहिए

पणजी। गोवा के पर्यटन मंत्री मनोहर अजगांवकर का कहना है कि गोवा में कर्नाटक से आये खानाबदोश जनजाति लमाणी के सदस्यों पर प्रतिबंध लगा दिया जाना चाहिए क्योंकि वे गोवा की छवि को धूमिल कर रहे हैं और तटीय राज्य की संस्कृति के अनुरूप नहीं हैं। अजगांवकर ने यह भी कहा कि जिन पुलिस अधिकारियों के अधिकार क्षेत्र में मादक दवाएं बिक रही हैं, उन्हें तत्काल निलंबित कर दिया जाना चाहिए, क्योंकि वे इस व्यापार में सहयोगी हैं।

 

 

 

 

गोयनकरपोन (गोवन) को बनाए रखने वाले बाहरी लोगों को रहने की इजाजत दी जानी चाहिए बाकी को भेज देना चाहिए। गोवा की संस्कृति और गोयनकरपोन को बनाये रखने के लिए लमाणी को गोवा आने से रोकना चाहिए। उनके कारण गलत संदेश जाता है और गोवा की प्रतिष्ठा खराब होती है। अजगांवकर ने कहा कि उनका मंत्रालय अवैध कारोबार में शामिल लमाणी के खिलाफ कार्रवाई करेगा।

 

 

 

 
अपने रंगीन वेशभूषा के लिए प्रसिद्ध लमाणी तटीय किनारों पर हस्तनिर्मित कपड़े और अन्य व्यापार में शामिल हैं। उनका कहना था कि हमारे अधिकारियों को पता है कि मादक दवाएं यहाँ कैसे आ रही हैं। इस अवैध कारोबार से जुड़े लोगों को बक्शा नहीं जायेगा। सीएम पर्रिकर ने हाल ही पुलिस विभाग को कड़े निर्देश दिए गए कि राज्य में देर रात की पार्टियों और नशीले पदार्थों की बिक्री पर रोक लगाई जाए।

TOPPOPULARRECENT