Wednesday , October 18 2017
Home / India / गोहाटी जेल से पाकिस्तानी शहरी की रिहाई

गोहाटी जेल से पाकिस्तानी शहरी की रिहाई

एक पाकिस्तानी शहरी को गोहाटी सेंटर्ल जेल से 14 साल बाद रिहा किया गया। गोहाटी हाइकोर्ट की जानिब से पाकिस्तानी शहरी को तमाम इल्ज़ामात से बरी किए जाने के बाद पाकिस्तान रवाना कर दिया गया।

एक पाकिस्तानी शहरी को गोहाटी सेंटर्ल जेल से 14 साल बाद रिहा किया गया। गोहाटी हाइकोर्ट की जानिब से पाकिस्तानी शहरी को तमाम इल्ज़ामात से बरी किए जाने के बाद पाकिस्तान रवाना कर दिया गया।

45 साला पाकिस्तानी शहरी जिस की शनाख़्त फ़सीह उल्लाह हुसैनी की हैसियत से हुई को कल जेल से रिहा किया गया। पुलिस तहवील में उसे वाघा सरहद रवाना किया गया जहां से उसे पाकिस्तानी रेंजर्स के हवाले कर दिया गया। जेल हुक्काम ने ये बात बताई जिस के मुताबिक़ अदालत के फ़ैसले के बाद हुसैनी को मर्कज़ी वज़ारत-ए-दाख़िला की इजाज़त मिलने के बाद पाकिस्तान रवाना कर दिया गया।

ज़राए ने बताया कि जारिया साल मई में अदालत ने हुसैनी के ख़िलाफ़ सबूत ना होने पर इल्ज़ामात से दस्तबरदारी इख़तियार करली थी और उसके बाद से ही उस की रिहाई और उसे पाकिस्तानी रेंजर्स के हवाले करने की कार्रवाई का शुरु होगया था। हुसैनी को 1999 में गोहाटी के पान बाज़ार पुलिस स्टेशन में फॉरेनर्स ऐक्ट के तहत पहली बार गिरफ़्तार किया गया था।

हुसैनी ने गै़रक़ानूनी तौर पर करीमगंज डिस्ट्रिक्ट से हिंदुस्तान में दाख़िल होने में कामयाबी हासिल की थी जिस केलिए ना उसे पासपोर्ट की ज़रूरत पड़ी और ना ही वीज़े की क्योंकि वो इलाक़ा हिंद-बंगलादेश सरहद के क़रीब वाके है। जेल में हुसैनी के चाल चलन को बेहतर क़रार देते हुए उसे रिहाई का हकदार‌ क़रार दिया गया था लेकिन हैरतअंगेज़ बात ये है कि 14 साल जेल में होने के बावजूद उसका कोई रिश्तेदार उससे मुलाक़ात के लिए नहीं आया।

TOPPOPULARRECENT