Saturday , October 21 2017
Home / Hyderabad News / चंद्रा बाबू नायडू के गैर मुतनासिब असासा मुक़द्दमा दूसरी रियासत को मुंतक़िल करने से इनकार

चंद्रा बाबू नायडू के गैर मुतनासिब असासा मुक़द्दमा दूसरी रियासत को मुंतक़िल करने से इनकार

नई दिल्ली । 17 जनवरी ( पी टी आई ) सुप्रीम कोर्ट ने तेलगुदेशम पार्टी के सदर एन चंद्रा बाबू नायडू की ग़ैर मुतनासिब असासों के मुक़द्दमा को आंधरा प्रदेश हाइकोर्ट के बजाय किसी दूसरी रियासत की अदालत को मुंतक़ली केलिए दायर करदा अपील को मु

नई दिल्ली । 17 जनवरी ( पी टी आई ) सुप्रीम कोर्ट ने तेलगुदेशम पार्टी के सदर एन चंद्रा बाबू नायडू की ग़ैर मुतनासिब असासों के मुक़द्दमा को आंधरा प्रदेश हाइकोर्ट के बजाय किसी दूसरी रियासत की अदालत को मुंतक़ली केलिए दायर करदा अपील को मुस्तर्द करदिया । अपील में इस्तिदलाल पेश किया गया था कि साबिक़ चीफ़ मिनिस्टर चंद्रा बाबू नायडू आंधरा प्रदेश हाइकोर्ट बंच पर अपना असर-ओ-रसूख़ इस्तिमाल करसकते हैं ।

जस्टिस वि ऐस चौहान और जस्टिस टी ऐस ठाकुर पर मुश्तमिल सुप्रीम कोर्ट बंच ने साबिक़ चीफ़ मिनिस्टर आंधरा प्रदेश आँजहानी वाई ऐस राज शेखर रेड्डी की बेवा और कड़पा की रुकन असम्बली वाई ऐस वजया लक्ष्मी की तरफ़ से दायर करदा दरख़ास्त को इस बुनियाद पर क़बूल करने से इनकार करदिया कि इस से अदलिया का हौसला मुतास्सिर होगा क्योंकि इस से किसी इदारा की साख-ओ-सदाक़त का ताल्लुक़ है।

बंच ने कहाकि मिस्टर रोहतगी(दरख़ास्त गुज़ारके वकील) आया इस से इदारा की साख-ओ-सदाक़त मुतास्सिर नहीं होगी? आंधरा प्रदेश हाइकोर्ट कुमलक के क़दीम तरीन हाइकोर्टस में शामिल हैं और इस दरख़ास्त से ये तास्सुर मिलेगा कि वहां एक भी ऐसी बंच नहीं है जो सेयासी मस्लिहत से बालातर होकर काम करसकती है ।

सुप्रीम कोर्ट ने ये रिमार्कस उस वक़्त किए जब दरख़ास्त गुज़ार के वकील मुकुल रोहतगी ने ये इस्तिदलाल पेश किया था कि हाइकोर्ट की 8 बंचों ने इस मुक़द्दमा की समाअत से इनकार करदिया था क्योंकि उसे वुकला जिन की बाअज़ जजों के सामने हाज़िरीमुतवक़्क़े नहीं थी दानिस्ता तौर पर हाज़िर हुए ताकि मुक़द्दमा की समाअत से इनकार के लिए दबाउ डाला जा सके । इस तरह ये मुक़द्दमा 8 मुख़्तलिफ़ बंचों पर पहुंचा इस के बावजूद भी इस पर समाअत ना होसकी ।

TOPPOPULARRECENT