Monday , October 23 2017
Home / Hyderabad News / चन्द्र शेखर राव‌ की गवर्नर से दूसरे दिन भी मुलाक़ात

चन्द्र शेखर राव‌ की गवर्नर से दूसरे दिन भी मुलाक़ात

टी आर एस के सरबराह के चंद्रा शेखर राव ने रियासती गवर्नर ई एस एल नरसिम्हन से मुलाक़ात की। पिछ्ले दो दिन के दौरान के सी आर की गवर्नर से ये मुसलसिल दूसरे दिन मुलाक़ात है।

टी आर एस के सरबराह के चंद्रा शेखर राव ने रियासती गवर्नर ई एस एल नरसिम्हन से मुलाक़ात की। पिछ्ले दो दिन के दौरान के सी आर की गवर्नर से ये मुसलसिल दूसरे दिन मुलाक़ात है।

इस मुलाक़ात के बारे में सियासी हलक़ों में मुख़्तलिफ़ अंदाज़े क़ायम किए जा रहे हैं। तेलंगाना राष़्ट्रा समीती के क़ाइदीन ने मुलाक़ात की तौसीक़ की।

ताहम गवर्नर के साथ हुई बातचीत के बारे में कुछ भी कहने से गुरेज़ किया है। वाज़िह रहे कि चन्द्र शेखर राव‌ ने पार्टी के नौमुंतख़ब अरकाने असेंबली के साथ गवर्नर से मुलाक़ात की थी ताकि उन्हें लेजिस्लेचर पार्टी के फ़ैसले से वाक़िफ़ किराया जाये।

लेजिस्लेचर पार्टी ने चन्द्र शेखर राव‌ को मुत्तफ़िक़ा तौर पर अपना क़ाइद मुंतख़ब किया। पहली मुलाक़ात में रियासत की तक़सीम की सूरत में तेलंगाना के साथ इमकानी नाइंसाफ़ीयों के सिलसिले में गवर्नर को एक याददाश्त पेश की गई थी।

बावसूक़ ज़राए ने बताया कि इस मुलाक़ात में के सी आर ने रियासत की तक़सीम के बावजूद आइन्दा दस बरसों तक आला कोर्सस में दाख़िलों के लिए मौजूदा सिस्टम की बरक़रारी के मसला पर नुमाइंदगी की।

वाज़िह रहे कि गवर्नर ने आला सतही मीटिंग में मौजूदा तालीमी निज़ाम को आइन्दा दस बरसों तक जारी रखने का फ़ैसला किया था। टी आर एस का मानना हैके इस फ़ैसले से तेलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले तलबा से नाइंसाफ़ी होगी।

चन्द्र शेखर राव‌ ने किसी भी रुकने असेंबली या सीनीयर क़ाइद के बगै़र तन्हा गवर्नर से मुलाक़ात की और मुख़्तलिफ़ मसाइल पर उन से नुमाइंदगी की।

TOPPOPULARRECENT