Saturday , September 23 2017
Home / Bihar News / चाट खाने से 100 बच्चे बीमार

चाट खाने से 100 बच्चे बीमार

भागलपुर : ठेले पर बिक रहा चाट खाने से बुध शाम जगदीशपुर ब्लॉक के वादे हसनपुर और वादे खोसालपुर गांव के 100 से ज़्यादा बच्चे बीमार हो गये। तमाम बच्चों की हालत बिगड़ने लगी। इतनी बड़ी तादाद में बच्चों की हालत बिगड़ने के बाद दोनों गांवों में कोहराम मच गया। बच्चे को मुसलसल उल्टी व पैखाना के बाद वालिदैन सबसे पहले जगदीशपुर पीएचसी पहुंचे। बड़ी तादाद में बच्चे पहुंचने से पीएचसी में अफरा-तफरी मच गयी।

इसी दरमियान संगीन हालतवाले करीब 73 बच्चों को बेहतर इलाज के लिए जेएलएनएमसीएच रेफर कर दिया गया। शाम करीब 8.45 पर सबसे पहले तीन बच्चे पहुंचे। इसके बाद 10 मिनट के अंदर ही दीगर बच्चे भी पहुंच गये। जेएलएनएमसीएच पहुंचे सभी बच्चे खतरे से बाहर बताये जा रहे हैं। सभी का इलाज चल रहा है।

अचानक 40-50 की तादाद में बच्चे व उनके अहलेखाना पहुंचने से इमरजेंसी वार्ड में अफरा-तफरी मच गयी। आनन-फानन में डॉक्टरों ने इलाज करना शुरू किया। इमरजेंसी वार्ड, मेडिसिन वार्ड, एसओडी रूम जहां भी बेड मिला बच्चों काे फौरन स्लाइन चढ़ाना शुरू कर दिया गया। एक-एक बेड पर तीन-चार बच्चे का इलाज किया गया। इसके बाद भी जिसे बेड नहीं मिला, उसे बरामदे पर ही लिटा कर स्लाइन चढ़ाया जाने लगा। करीब एक घंटे के बाद जब हालत आम हुई तो फिर इंडोर महकमा के बच्चे की वार्ड में करीब 30 बच्चे को शिफ्ट किया गया।

फूड प्वाइजनिंग की खबर जगदीशपुर पीएचसी के डॉक्टरों ने पहले ही सदर अस्पताल व जेएलएनएमसीएच को दे दी थी। मामले की संजीदगी को देखते हुए इंचार्ज अस्पताल नायब सदर डॉ एके भगत और मेडिकल काॅलेज के प्रिन्सिपल डॉ अर्जुन कुमार सिंह ने इमरजेंसी वार्ड के इंजार्ज डॉ सुरेश कुमार को अलर्ट कर दिया। बच्चे के महकमा के डॉ केके सिन्हा के अलावा सीनियर रेजिडेंट व दीगर डॉक्टरों को बुला लिया गया। इसके अलावा हालत से निबटने के लिए इंडोर महकमा की तमाम नर्सों को भी इमरजेंसी वार्ड में बच्चों के इलाज करने के लिए लगा दिया गया।

 

TOPPOPULARRECENT