Sunday , October 22 2017
Home / Bihar News / चार साल की बच्ची के साथ इशमतरेज़ि

चार साल की बच्ची के साथ इशमतरेज़ि

चार साल की बच्ची लक्ष्मी को शायद ये भी मालूम नहीं कि उसके साथ क्या हुआ?

चार साल की बच्ची लक्ष्मी को शायद ये भी मालूम नहीं कि उसके साथ क्या हुआ? बस अस्पताल में वो पुलिस के पास तोतली आवाज में एक ही रट लगा रही थी कि अंकल ने मुङो पीटा है, मम्मी मुङो बहुत दर्द हो रहा है। शहर के मलहचक के रहने वाले बबीता अपने तीन बेटियों के साथ बीते छह दिसंबर को काको थाना इलाक़े के घटकन गांव अपने एक रिश्तेदार के घर शादी तकरीब में गयी थी।

जब दूल्हा दुल्हिन का जयमाला हो रहा था तभी एक दरिंदे की नजर ये बच्ची पर पड़ी और वो उसे टॉफी और कुरकुरे खिलाने का लालच देकर गोद में उठा लिया। फिर उसे गांव के देवी मंदिर के नज़दिक ले जाकर उस बच्ची के साथ इशमतरेज़ि किया। जब बच्ची दर्द से कराहती तो उसे पीट-पीट कर डराया जाता रहा। खैर! दो-तीन घंटे बाद जब बच्ची के वालिद हरिहरनाथ मिश्र और अहले खाना उसे ढूंढने लगे तो बच्ची घर में नहीं मिली। तकरीब में आये दीगर रिश्तेदार भी गांव की गलियों में उसे खोजने निकल पड़े। तभी मंदिर के नजदीक किसी बच्ची के रोने की आवाज सुनाई पड़ी, तो देखा कि एक रिश्तेदार बच्ची को गोद में लेकर उसे पुचकारने लगा है।

लोगों को आता देख वो सख्श उसे गोद से उतार कर हाथ-पैर धोया और चुपके से खिसक गया। फिर पता चला कि वो सख्श गोपाल जो नालंदा जिले के हिलसा का रहनेवाला है उसने बच्ची के साथ मुंह काला किया है। इस बात का भी खुलासा तब हुआ जब बच्ची की तरफ से बार-बार पेट में दर्द की शिकायत वालिदैन से की जाने लगी। अहले खाना ने उसे इलाज के लिए खातून डॉक्टर डॉ मीना के यहां ले गये, जहां देखते ही डॉक्टर ने उसके साथ इशमतरेज़ि होने की तसदीक़ कर दी।

इसके बाद तो अहले खाना के होश ही उड़ गये और अहले खाना ने इसकी इत्तिला खातून थाना को दी। थाना सदर प्रीति कुमारी फौरन पहुंची और उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल लायी साथ ही बच्ची का फर्द बयान भी लिया। तीन डॉक्टरों की एक खुसुसि टीम बनी जो बच्ची का मेडिकल जांच भी कर रहा है। बच्ची की दर्द भरी कराह सुन लोग गुस्से में थे।

TOPPOPULARRECENT