Tuesday , August 22 2017
Home / Khaas Khabar / चार साल से भारत के जेल में बंद है पाकिस्तान की रूबीना, धोखा देकर भाग गया था पति

चार साल से भारत के जेल में बंद है पाकिस्तान की रूबीना, धोखा देकर भाग गया था पति

नई दिल्ली: पाकिस्तान के हैदराबाद में मूसा कॉलोनी में रहने वाली एक लड़की रूबीना अपने पति की बेवफाई के कारण आज दर बदर की ठोकरें खाने को मजबूर है और जम्मू कश्मीर की जेल में बंद है। इतना ही नहीं रूबीना की एक बेटी भी है, जिसका नाम जांनिसार है। वह भी अपनी मां के साथ जेल में बंद है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उल्लेखनीय है कि रूबीना पाकिस्तान की रहने वाली है, लेकिन वर्तमान में जम्मू की कोट भलवाल जेल में बंद है। नवंबर 2012 में रूबीना इलाज के लिए अपने पति और दो महीने की बच्ची के साथ दिल्ली आई थी, लेकिन रुबीना का पति उसके सभी कागजात और पैसे लेकर फरार हो गया, जिसके बाद रूबीना कई दिनों तक दर बदर भटकती रही। आखिरकार रूबीना को दिल्ली में कुछ लोग मिले जिन्होंने उसे कुछ पैसे दिए और कपड़े दिए। इसके बाद कई दिनों तक रुबीना दिल्ली और अमृतसर रेलवे स्टेशन के चक्कर काटती रही, लेकिन उसे उसके पति के बारे में कुछ पता नहीं चला। थक हार कर रूबीना दिल्ली वापस लौट गई, फिर उसे किसी ने जम्मू के रास्ते पाकिस्तान जाने की सलाह दी और अंत में रूबीना अपनी बच्ची के साथ जम्मू पहुंच गई। जम्मू पहुंचकर रूबीना किसी सीमा का रास्ता पूछकर सीमा पर चली गई।

रूबीना ने 17 नोबर 2012 को जम्मू के कानाचक सीमा से पाकिस्तान जाने की कोशिश की, लेकिन सुरक्षा बलों ने उसे गिरफ्तार कर लिया। सुरक्षा बलों ने रूबीना को पुलिस के हवाले कर दिया, जिसके बाद से काफी पूछताछ की गई और उसे अदालत में पेश किया गया। अदालत ने रूबीना को अगस्त में दो महीने की सजा सुनाई। सजा पूरी होने के बाद रूबीना को छोड़ तो दिया गया, लेकिन फिर उसे सार्वजनिक सुरक्षा अधिनियम के तहत गिरफ्तार कर लिया गया।

आज रूबीना की सजा पूरी हुए कई साल बीत गए हैं और अब रूबीना की बेटी भी बड़ी हो गई है, लेकिन रुबीना अपने देश वापस नहीं जा सकी। जम्मू-कश्मीर जेल के महानिदेशक एसके मिश्रा के अनुसार रूबीना को कोंसलर एक्सेस के लिए दो बार अमृतसर के वाघा सीमा पर लाया गया, लेकिन पाकिस्तान ने उसे अपनाने से इनकार कर दिया। पाकिस्तान उच्चायोग ने उसकी पहचान नहीं की। अब जेल में रूबीना और बच्ची को हर सुविधा प्रदान की जा रही है।

एसके मिश्रा के अनुसार अब हम कोशिश कर रहे हैं कि रूबीना को फरवरी में फिर अमृतसर ले जाएं, ताकि पाकिस्तानी उच्चायोग के लोग उसे पहचान सकें और रूबीना अपने वतन वापस जा सके। रूबीना 2012 से अपनी बच्ची के साथ जेल में है, लेकिन वह इसी इंतजार में है कि कब अपने वतन पाकिस्तान पहुंचे। रूबीना अपने पति की बेवफाई का सिला आज तक जेल में भुगत रही है।

TOPPOPULARRECENT