Tuesday , October 17 2017
Home / World / चीन भी अमरीका की तरह पाकिस्तान में मिल्ट्री मौजूदगी का ख़ाहां

चीन भी अमरीका की तरह पाकिस्तान में मिल्ट्री मौजूदगी का ख़ाहां

ईस्लामाबाद 27 अक्टूबर ( पी टी आई ) चीन ने पाकिस्तान के कशीदा कबायली इलाक़े या शोरिश ज़दा चीनी सूबा झीण जियांग से क़रीब वाक़्य शुमाली इलाक़ों में मिल्ट्री अड्डे क़ायम करने में दिलचस्पी ज़ाहिर की है ताकि इंतहापसंदों की सरगर्मीयों का तदारु

ईस्लामाबाद 27 अक्टूबर ( पी टी आई ) चीन ने पाकिस्तान के कशीदा कबायली इलाक़े या शोरिश ज़दा चीनी सूबा झीण जियांग से क़रीब वाक़्य शुमाली इलाक़ों में मिल्ट्री अड्डे क़ायम करने में दिलचस्पी ज़ाहिर की है ताकि इंतहापसंदों की सरगर्मीयों का तदारुक किया जा सकी, मीडीया की एक रिपोर्ट ने आज ये बात बताई।

रोज़नामा दी न्यूज़ ने सिफ़ारती ज़राए के हवाले से कहा कि चीनी ख़ाहिश का मक़सद अलक़ायदा से मरबूत ईस्ट तुर्किस्तान इस्लामिक मूवमेंट के चीनी बाग़ीयों की बढ़ती हुई दहश्त गिरदाना सरगर्मीयों पर क़ाबू पाना है ।

चीनी बाग़ी आज़ाद इस्लामी ममलकत चाहते हैं और मुबय्यना तौर पर पाकिस्तान के कबायली इलाक़ों में तर्बीयत पा रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक़ पाकिस्तान में मिल्ट्री मौजूदगी क़ायम करने चयन की ख़ाहिश पर दोनों मुल्कों की सयासी और मिल्ट्री क़ियादत ने हालिया अर्सा में तफ़सीली ग़ौर-ओ-ख़ौज़ किया है क्योंकि बीजिंग के लिए ये बात काफ़ी तशवीश का सबब है कि पाकिस्तान की कबायली पट्टी कट्टर पसंदों केलिए आमाजगाह का काम कर रही है।

बीजिंग का मानना है कि पाकिस्तान में अमरीकी मिल्ट्री मौजूदगी की तरह चीनी मौजूदगी उस की मिल्ट्री को मुस्लिम अलाहिदगी पसंदों से मूसिर तौर पर लड़ने के काबिल बनाएगी जो तक़रीबन एक दहिय से पाकिस्तान के कबायली इलाक़ों से सरगर्म हैं और गड़बड़ ज़दा सूबा-ए-झीण जियांग में सरहद पार दहश्त गिरदाना सरगर्मीयां अंजाम दे रहे हैं।

हालिया महीनों में पाकिस्तान से चीन को आला सतह के तीन दौरा हुए हैं जो वज़ीर-ए-ख़ारजा हिना रब्बानी खुर , सदर आसिफ़ अली ज़रदारी और एंटर सरवेस अनटलीजनस एजैंसी सरबराह लीफ़टननट जनरल अहमद शुजाअ पाशाह ने किए ।

पाकिस्तानी दौरों के जवाब में चीनी नायब वज़ीर-ए-आज़म मींग जियान झ़हो ने ईस्लामाबाद का दौरा किया। इस दौरा के मौक़ा पर झीण जियांग के शहर कशगर में 30 और 31 जुलाई को दो बम धमाके हुए जिस में 18 अफ़राद की जान गई । इन धमाकों ने झीण जियांग को हालिया बरसों में पहली बार ये दावा करने पर मजबूर किया कि हमला आवरों की तर्बीयत पाकिस्तान के कबायली इलाक़ा वज़ीरस्तान में चीनी मुस्लिम अलहिदगी पसंदों ने की है ।

TOPPOPULARRECENT