Friday , September 22 2017
Home / Crime / चीन: संकियांग राज्य में रोज़े रखने पर प्रतिबंध जारी

चीन: संकियांग राज्य में रोज़े रखने पर प्रतिबंध जारी

बीजिंग: रमजान की शुरुआत के साथ ही चीन के मुस्लिम बहुल प्रांत संकियांग में सरकारी कर्मचारियों, छात्रों और बच्चों पर रोज़ा रखने पर पाबंदी लगा दी गई। समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार चीन की सत्तारूढ़ पार्टी कम्युनिस्ट पार्टी आधिकारिक तौर पर लामज़हब है और काफी सालों से प्रांत संकियांग में उसने सरकारी कर्मचारियों और बच्चों पर रोज़ा रखने पर पाबंदी लगा रखी है, जबकि इस दौरान होटलों को खुला रखने का आदेश दिया गया।

गौरतलब है कि संकियांग की जनसंख्या 10 लाख के करीब है, जिनमें से ज्यादातर मुसलमान अल्पसंख्यक अवीगोर से संबंध रखते हैं। इस क्षेत्र में अवीगोर मुसलमानों और सुरक्षा बलों के बीच झड़पें होती रहती हैं और चीन अपने पश्चिमी प्रांत संकियांग में तनाव के लिए जिम्मेदार अलगाववादी समूह  को ठहराता है। संकियांग के कई स्थानीय सरकारों के कार्यालयों ने अपनी वेबसाइटों पर रमजान के दौरान रोज़ा  रखने पर प्रतिबंध के संबंध में निविदाएं प्रकाशित किए। केंद्रीय संकियांग कोला सिटी साइट पर सूचीबद्ध नोटिस में लिखा था, ‘पार्टी सदस्य, सरकारी कर्मचारी, छात्र और बच्चे रमज़ान में रोज़ा नहीं रखेंगे और न ही धार्मिक गतिविधियों में भाग लेंगे’. मज़ीद कहा गया कि रमजान के दौरान खाने-पीने और पेय व्यापार भी बंद नहीं किए जाएं गे.

संकियांग राजधानी में शिक्षा ब्यूरो की ओर से चलाई जाने वाली एक वेबसाइट पर पोस्ट किए गए नोटिस में रमजान के दौरान सभी स्कूलों से छात्रों और शिक्षक, धार्मिक गतिविधियों के लिए मस्जिदों में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया गया । दूसरी ओर उत्तरी शहर आलटे में सरकारी पदाधिकारियों ने इस बात पर सहमत हुए कि रमज़ान में बच्चों को रोज़ा रखने से रोकने के लिए ‘माता-पिता से संपर्क बढ़ाया जाए। निर्वासित समूह के  विश्व अवीगोर कांग्रेस के एक अधिकारी ने इन प्रतिबंधों की निंदा करते हुए कहा कि ‘चीन को लगता है कि अवीगोरों के धार्मिक विश्वासों से बीजिंग के नेतृत्व के लिए खतरा हैं।’

याद रहे कि अवीगोर राष्ट्र के बहुमत सामान्य इस्लाम का पालन करना है हालांकि इनमें कुछ लोग सऊदी अरब और अफगानिस्तान में लागू इस्लामी विधि प्रतिबद्ध हैं जैसा कि महिलाओं का नक़ाब पोशी करना और पुरुषों को दाढ़ी रखना, जिनके खिलाफ हाल के वर्षों में चीनी सुरक्षा सेना ने क्रेक डाउन भी किया। पिछले कुछ वर्षों में संकियांग में होने वाली तनाव के कारण सेंकडों लोग मारे गए हैं जबकि चीनी सरकार की ओर से यहाँ शांति की खराब स्थिति के लिए जिम्मेदार इस्लामी चरमपंथियों के साथ साथ पूर्वी तुर्किस्तान के नाम से एक अलग राज्य बनाने वालों को बताया जा रहा है।

दूसरी ओर चीन की राज्य परिषद ने गुरुवार को एक श्वेत पत्र भी जारी किया, जिसमें कहा गया कि संकियांग में धार्मिक आबादी को इतिहास के किसी भी दौर से नहीं मिलाया जा सकता। कहा गया कि रमज़ान के दौरान मुसलमान रेस्टोरेंट द्वारा इस बात का फैसला खुद करेंगे कि वे अपना कारोबार जारी रखेंगे या नहीं, इस मामले में कोई हस्तक्षेप नहीं होगा। व्हाइट पेपर में यह भी कहा गया कि स्थानीय सरकारें इस बात को सुनिश्चित करें कि रमजान के दौरान धार्मिक गतिविधियां संगठित तरीके से की जा सके।

TOPPOPULARRECENT