Thursday , August 17 2017
Home / India / चीफ जस्टिस ने वकीलों को लगायी फटकार, चुप हो जाइये वरना आप लोगों को बाहर निकलवा दूंगा

चीफ जस्टिस ने वकीलों को लगायी फटकार, चुप हो जाइये वरना आप लोगों को बाहर निकलवा दूंगा

नई दिल्ली : सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान चिल्ला रहे वकीलों पर गुस्सा होते चीफ जस्टिस हुए टीएस ठाकुर ने कहा कि यह कोर्ट है या मछली मार्केट? चुप हो जाइये वरना मैं आप लोगों को बाहर निकलवा दूंगा |

वरिष्ठ  वकील इंदिरा जयसिंह द्वारा कुछ वकीलों के सीनियर बनने के सिलसिले में पारदर्शिता को लेकर दायर की गई जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान यह वाकया पेश आया | इस सुनवाई के दौरान चिल्ला रहे वकीलों पर गुस्सा होते हुए चीफ जस्टिस ठाकुर ने क‍हा कोर्ट की गरिमा होनी चाहिए | चुप हो जाओ, आप लोग चिल्‍ला क्‍यों रहे हैं? यह कोर्ट है या मछली मार्केट? मैंने कहा चुप हो जाओ, मैं आप लोगों को बाहर निकलवा दूंगा |

उन्होंने कहा कि सोली सोराबजी को देखिए और उनसे कुछ सीखिए | आप चुप रहिए,इस अदालत की गरिमा है | आप इस मामले में पार्टी नहीं हैं | इस तरह से चीखने और धौंस जमाने से क्या आपको मदद मिलेगी | वे लोग सीनियर वकील बनना चाहते हैं जो कोर्ट रूम में खुद को संभाल नहीं पाते हैं | उन्होंने कुछ वकीलों को कहा कि दुबारा ऐसा नहीं होना चाहिए | अगर इस तरह से व्यवहार किया गया तो उन्हें बाहर निकाल दिया जायेगा |

इस सुनवाई बैंच में चीफ जस्टिस के अलावा जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और एल नागेश्‍वर राव भी शामिल थे। इंदिरा जयसिंह ने कहा कि ऐसा सिस्टम बनाया जाए जिससे सभी को न्याय मिले | उन्होंने कहा कि बार में कुछ वकीलों का एकाधिकार है |इस वजह से न्याय मिलने में मुश्किल होती है |उन्होंने कहा कि मौजूदा सिस्टम भेदभाव भरा है अगर हम इसको चलते रहना देना चाहते हैं तो इसे लोकतांत्रिक बनाना होगा | 20-30 साल के अनुभव वाले वकीलों को सीधे तौर पर सीनियर मान लेने की बात से कोर्ट ने असहमति जताई | कोर्ट ने कहा कि किसी वकील द्वारा इस पेशे में कुछ साल बिताने पर उसको सीनियर मान लेना ठीक नहीं है | सभी पार्टियों से कहा गया है कि वो एक हफ्ते में इस याचिका पर अपना जवाब दें |

TOPPOPULARRECENT