Thursday , October 19 2017
Home / Hyderabad News / चीफ मिनिस्टर की हैसियत से किरण कुमार रेड्डी के दिन गिने जा चुके हैं?

चीफ मिनिस्टर की हैसियत से किरण कुमार रेड्डी के दिन गिने जा चुके हैं?

कांग्रेस क़ियादत ऐसा लगता है कि आंध्र प्रदेश की तक़सीम से क़ब्ल जो उबूरी वक़्त है जिस में एक हंगामी मंसूबा तैयार कर रही है ताकि उस के मंसूबों और अज़ाइम में किसी तरह की रुकावटें ना आने पाएं। कांग्रेस हाईकमान इस ताल्लुक़ से हर मुम्किन इम

कांग्रेस क़ियादत ऐसा लगता है कि आंध्र प्रदेश की तक़सीम से क़ब्ल जो उबूरी वक़्त है जिस में एक हंगामी मंसूबा तैयार कर रही है ताकि उस के मंसूबों और अज़ाइम में किसी तरह की रुकावटें ना आने पाएं। कांग्रेस हाईकमान इस ताल्लुक़ से हर मुम्किन इमकान पर ग़ौर कर रही है और इस के पास चीफ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी की तबदीली और उन के जानशीन की तलाश का काम अहमियत इख़्तियार कर गया है।

ऐसा लगता है कि राइलसीमा इलाक़ा से ताल्लुक़ रखना किरण कुमार रेड्डी के लिए कांग्रेस में अहमियत खोने की वजह बन रहा है और पार्टी आला क़ियादत ने हालाँकि उन्हें चीफ मिनिस्टर बना दिया था ताहम अब उन की मुख़ालिफ़त को ख़ातिर में लाने को भी तैयार नहीं है।

पार्टी क़ियादत ने इस ख़्याल का इज़हार किया कि किरण कुमार रेड्डी तक़सीम रियासत के अमल की निगरानी करने और हालात को सँभालने की सलाहियत नहीं रखते।

इस के इलावा कुल हिंद कांग्रेस कमेटी का ये एहसास है कि चीफ मिनिस्टर की हैसियत से उन के दिन कम रह गए हैं। उन का कोई ज़्यादा असर और रसूख़ नहीं है और रियासती क़ाइदीन उन्हें ख़ातिर में नहीं लाते और ना इंतेज़ामी सलाहियतें मोअस्सर हैं।

किरण कुमार रेड्डी की इस मुख़ालिफ़त के पसेपर्दा अनासिर का अभी तक कोई जवाब नहीं मिल सका है लेकिन ये ज़रूर कहा जा रहा है कि बहैसियत चीफ मिनिस्टर उन के दिन गिने जा चुके हैं।

और अब पार्टी तेलंगाना रियासत की तशकील के अमल को बहरे सूरत मुकम्मल करने के लिए एक हंगामी मंसूबा तैयार कर चुकी है जिस में किरण कुमार रेड्डी की चीफ मिनिस्टर की हैसियत से अलैहदगी भी शामिल दिखाई दे रही है।

TOPPOPULARRECENT