Tuesday , October 17 2017
Home / Hyderabad News / चीफ मिनिस्टर तेलंगाना की रोज़मर्रा सरगर्मियों में वास्तू का दख़ल

चीफ मिनिस्टर तेलंगाना की रोज़मर्रा सरगर्मियों में वास्तू का दख़ल

चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्र शेखर राव वास्तू पर कुछ ज़्यादा ही यक़ीन रखते हैं जिस का इज़हार उन की रोज़मर्रा सरगर्मीयों से हो रहा है। चीफ़ मिनिस्टर ने सेक्रेट्रीएट का वास्तू ठीक ना होने का उज़्र पेश करते हुए उसे एरा गड्डा मुंतक़िल करने का फ़ैसला कर लिया है जिस के ख़िलाफ़ तमाम अपोज़ीशन जमातें एहतेजाज कर रही हैं।

वास्तू पर चीफ़ मिनिस्टर के ईक़ान का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्हों ने वास्तू के माहिर एस सुधाकर तेजा को हुकूमत का मुशीर मुक़र्रर कर दिया। सुधाकर तेजा कई बरसों से चन्द्र शेखर राव से काफ़ी क़रीब हैं और किसी भी काम के आग़ाज़ से क़ब्ल चन्द्र शेखर राव उन से वास्तू के बारे में राय हासिल करते हैं।

तेलंगाना भवन की तामीर और अपनी क़ियामगाह के बाबुल दाखिला के सिलसिला में भी उन्हों ने वास्तू को अहमीयत दी थी। चीफ़ मिनिस्टर की ज़िम्मेदारी सँभालने के बाद के सी आर सेक्रेट्रीएट के सी बलॉक में वाक़े चीफ़ मिनिस्टर चैंबर में दाख़िल होने तैयार नहीं थे।

उन्हों ने वास्तू की ख़राबी को दरुस्त करने के लिए चैंबर में कई तबदीलीयां कीं और इस के बाद ही चैंबर में क़दम रखा। इस सिलसिले में जब इस क्लब के ओहदेदार चीफ़ मिनिस्टर से रुजू हुए तो बताया जाता है कि चीफ़ मिनिस्टर ने क्लब की मुंतक़ली का मश्वरा दिया।

उन्हों ने तजवीज़ पेश की कि शहर के किसी और मुक़ाम पर अराज़ी की निशानदेही की जाए तो वो नए रेक्रेशन क्लब की तामीर के लिए 40 करोड़ रुपये मंज़ूर करने के लिए तैयार हैं।

इस सूरते हाल में आई ए एस और आई पी एस ओहदेदार तज़बज़ब का शिकार हैं कि आख़िर क्या फ़ैसला करें। ओहदेदारों का मानना है कि अगर वो चीफ़ मिनिस्टर की तजवीज़ को क़ुबूल नहीं करेंगे तो वास्तू के नाम पर किसी भी सूरत में क्लब को बंद कर दिया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT