Friday , August 18 2017
Home / India / चीफ मिनिस्टर हरियाणा के दफ़्तर में सिक्योरिटी की संगीन कोताही

चीफ मिनिस्टर हरियाणा के दफ़्तर में सिक्योरिटी की संगीन कोताही

चन्दीगढ़: हाई सिक्योरिटी पंजाब एंड हरियाणा सियोल सक्रियट्रेट की इमारत में चीफ मिनिस्टर हरियाणा मनोहर लाल ख़तर ऑफ़िस के करीब एक मुसल्लह शख़्स एक ज़ाइद मर्तबा तलाशी मरहले से गुज़र कर दाख़िल होजाने से हिफ़ाज़ती इंतेज़ामात में कोताही बे-नक़ाब हो गई।जिसके बाद सी आई एस एफ के 6 अहलकारों को मुअत्तल कर दिया गया।

एक सीनिय‌र सी आई एस एफ ओहदेदार ने बताया कि हिफ़ाज़ती इंतेज़ामात में ग़फ़लत बरतने पर 6 अहलकारों को मुअत्तल और इस वाक़िये की तहकीकात का हुक्म देदिया गया है। मंगल को पेश आए इस वाक़िये के सिलसिले में सक्रियट्रेट‌ में मुतय्यन सी आई एस एफ कमांडेंट को तलब कर के मुबय्यना कोताहियों से वाक़िफ़ करवाया गया।

वाज़िह रहे कि सक्रिट्रेट इमारत के लिये हिफ़ाज़ती इंतेज़ामात की ज़िम्मेदारी सेंटर्ल इंडस्ट्रियल रिज़र्व फ़ोर्स को तफ़्वीज़ की गई है। दिल्ली का एक शहरी एस पी राना जिसके पास प्वाईंट 32 बोर की लाईसेंसयाफ़ता पिस्तौल थी। 3 मुक़ामात पर तलाशी के मरहले से गुज़र गया लेकिन इमारत की चौथी मंज़िल पर चीफ मिनिस्टर ऑफ़िस के सेकोरेटी स्टाफ़ ने उसे बिलआख़िर हथियार के साथ पकड़ लिया।

ऑल इंडिया एम्बोलेंस वेलफ़ेर एसोसीएशन‌ के सदर एस पी राना ने बताया कि एसोसीएशन‌ के 20 ता 30 नुमाइंदों के एक ग्रुप के साथ चीफ मिनिस्टर ख़तर से मुलाक़ात के लिये सक्रियट्रेट पहुंचे थे ताकि हरियाणा से गुज़रने वाली एम्बोलेंस से पा संजर टैक्स की वसूली के ख़िलाफ़ नुमाइंदगी और टैक्स से दसतबरदारी का मुतालिबा किया जा सके।

ये दरयाफ़त किये जाने पर कि सेक्रियट्र्रेट की इमारत में हथियार क्यों लाए थे ? राना ने बताया कि सेक्योरिटी तहदेदात से वो ला इल्म था । मैं ने जानता था कि लाईसे‍ंस याफ़ता हथियार भी लाना मना है जब कि एसोसीएशन‌ के अरकान ने सेक्रियट बिल्डिंग में दाख़िले के लिये गेट पास भी हासिल करलिया था। सी आई एस एफ स्टाफ़ की कोई ग़लती नहीं है। जिन्होंने अपने फ़राइज़ अदा किए थे। और मैं अपनी ग़लती का एतराफ़ करता हूँ क्यों कि मैं लाईसेम्स याफ़ता पिस्तौल भी लाने की पाबंदी से नावाक़िफ़ था।

TOPPOPULARRECENT