Friday , October 20 2017
Home / India / चीफ़ मिनिस्टर मनी पूर से रोज़नामों की कारकर्दगी यक़ीनी बनाने जस्टिस काटजू का मुतालिबा

चीफ़ मिनिस्टर मनी पूर से रोज़नामों की कारकर्दगी यक़ीनी बनाने जस्टिस काटजू का मुतालिबा

प्रेस कौंसिल आफ़ इंडिया के सदर नशीन जस्टिस रिटायर्ड मारकंडे काटजू ने चीफ़ मिनिस्टर मनी पूर ओकराम इबोबी सिंह से मांग‌ किया कि रियासत में रोज़नामों की अशाअत को यक़ीनी बनाने इक़दामात करें।

प्रेस कौंसिल आफ़ इंडिया के सदर नशीन जस्टिस रिटायर्ड मारकंडे काटजू ने चीफ़ मिनिस्टर मनी पूर ओकराम इबोबी सिंह से मांग‌ किया कि रियासत में रोज़नामों की अशाअत को यक़ीनी बनाने इक़दामात करें।

अस्करियत पसंदों की जानिब से धमकियां हासिल होरही हैं। चीफ़ मिनिस्टर के नाम अपने मकतूब में सदर नशीन पी सी आई ने कहा कि स्करियत पसंद ग्रुप ने धमकी दी है कि मनी पूर में अख़बारात की तक़सीम की इजाज़त नहीं दी जाएगी अगर रोज़नामे उनके बयानात शाय ना करें तो उनकी अशाअत की भी इजाज़त नहीं दी जाएगी।

ऑल मनी पुर वर्किंग जर्नलिस्ट्स यूनीयन ने इम्फाल में एहतजाजी मुज़ाहरा करते हुए सरकारी ओहदेदारों से मांग‌ किया कि वो सहाफियों को तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम करें। सदर नशीन ने कहा कि दस्तूर हिंद आज़ाद ई सहाफ़त की ज़मानत देता है और उसे एक बुनियादी हक़ क़रार देता है। चीफ़ मिनिस्टर को बुनियादी हक़ के तहफ़्फ़ुज़ के लिए हर ज़रूरी इक़दाम करना चाहिए।

TOPPOPULARRECENT