Wednesday , September 20 2017
Home / Kashmir / चुप थी लेकिन बेहतर थी कांग्रेस, आज के पीएम तो गरजते हैं पर बरसते नहीं: शिवसेना

चुप थी लेकिन बेहतर थी कांग्रेस, आज के पीएम तो गरजते हैं पर बरसते नहीं: शिवसेना

शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कश्मीर के उरी में हुए आतंकी हमले के मुद्दे को हवा देते हुए प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा है कि आज जैसे हालात भारत में बने हुए हैं वैसे हालात तो कभी कांग्रेस के कार्यकाल नहीं भीं नहीं थे। अगर प्रधानमंत्री पाकिस्तान पर हमला बोलने और आतंकियों को खत्म करने के काबिल नहीं हैं तो अपनी वैश्विक छवि बनाने की मशक्कत भी न करें। पाकिस्तान ने कश्मीर पर यह हमला करके भारत को खुली चेतावनी दी है और हम है कि पाकिस्तान के खिलाफ पूरे सबूत भी नहीं जुटा पाते।

जम्मू-कश्मीर में बिगड़े हालातों को देखते हुए वहां ‘मार्शल लॉ’ लगा देना चाहिए क्योंकि राज्य सरकार हालातों को क़ाबू करने में और कुछ भी फैसला करने में असमर्थ है और राष्ट्रपति (राज्यपाल) शासन पर्याप्त नहीं होगा। आप देख सकते हैं कि कश्मीर में सरेआम पाकिस्तान के समर्थन में नारे लगाए जा रहे हैं और वहां पाकिस्तानी झंडे फहराए जा रहे हैं। हमें पठानकोट में हुए आतंकी हमले से सबक लेना चाहिए था लेकिन हम चेतावनियां देने के अलावा कोई कदम नहीं उठाते।

इस हमले के बाद क्या हमें सबूतों की जरूरत है ? अगर मोदी अमेरिका की तरह पाकिस्तान को सबक नहीं सीखा सकते तो फिर अंतरराष्ट्रीय छवि बनाने का कोई फायदा नहीं है। इस वक़्त शहीद जवानों के ताबूतों पर पुष्पचक्र चढ़ाने से या बाहरी देशों से संवेदनाएं लेने से कुछ नही होगा। अगर कुछ होगा तो सुरक्षा बलों को बल देकर ही होगा। मोदी धमकियां देना जारी रखें लेकिन अब सच में पाकिस्तान को जावब देने का वक़्त है।

TOPPOPULARRECENT