Friday , October 20 2017
Home / Uttar Pradesh / चौथे दिन भी बाबा के मजार पर उमड़ी भीड़

चौथे दिन भी बाबा के मजार पर उमड़ी भीड़

हजरत कुतुबुद्दीन रिसालदार बाबा के मजार पर सालाना उर्स के चौथे दिन इतवार को चादरपोशी करने के लिए बाबा के चाहनेवालों की भीड़ उमड़ पड़ी। इससे पहले दिन में दस बजे के बाद पूरे आर्मी एहतेजाज के साथ जैप वन और बिहार मिलिट्री पुलिस की तरफ

हजरत कुतुबुद्दीन रिसालदार बाबा के मजार पर सालाना उर्स के चौथे दिन इतवार को चादरपोशी करने के लिए बाबा के चाहनेवालों की भीड़ उमड़ पड़ी। इससे पहले दिन में दस बजे के बाद पूरे आर्मी एहतेजाज के साथ जैप वन और बिहार मिलिट्री पुलिस की तरफ से चादर चढ़ाई गयी और बाबा से फौज की तरक्की और जवानों की सेक्यूरिटी के लिए दुआ मांगी गयी। दरगाह ट्रस्ट की तरफ से इन जवानों का इस्तकबाल भी किया गया। इसके अलावा कई तंजीम , मुखतलिफ़ क्लबों, पंचायतों और मुहल्लों के अलावा ज़ाती तौर से भी लोगों ने चादरपोशी की और बाबा से फरियाद की। इससे पहले सुबह में कुरानखानी हुई और लंगर का तक़सीम किया गया।

सेक्रेटरी के घर से निकली दरबारी संदल और चादर

सेक्रेटरी अफजल आलम के डोरंडा दरजी मुहल्ला वाक़ेय रिहाइशगाह से शाम सवा चार बजे दरबारी संदल और चादर निकला। उनके रिहाइशगाह पर मुंबई के कव्वाल सुल्तान नाजा और दिल्ली के रईस मियां साबरी ने कव्वाली पेश की। दिल्ली के कव्वाल रईस मियां साबरी ने नात शरीफ भारो घी के दीए ना, भइले आमना के ललना से कव्वाली की शुरुआत की।

उनके साथ तबले पर सरफराज, कोरस इशाक, ढोलक हुसैन बख्शी और बैंजो शाहबाज ने संगत की। इससे पहले सेक्रेटरी अफजल आलम और मुहल्ले के लोगों की तरफ से खुसुसि मेहमानों का इस्तकबाल किया गया। प्रोग्राम में दरगाह ट्रस्ट के सदर हाजी रउफ गद्दी समेत दीगर ओहदेदारों ,इंतेजामी खिदमत के अफसर कांग्रेसी लीडर आलोक दुबे, परवेज आलम, फिरोज रिजवी, शंभु गुप्ता, प्रेम गुप्ता, सरफराज अहमद, आरफीन, गुड्डू समेत दीगर खुसुसि मेहमान मौजूद थे।

वजीरे आला हेमंत सोरेन ने की चादरपोशी

वजीरे आला हेमंत सोरेन ने इतवार को रियासत की आवाम की तरफ से बाबा के मजार पर चादरपोशी की और तमाम की खुशहाली और रियासत की तरक्की के लिए बाबा से दुआ मांगी। उन्होंने कहा कि ट्रस्ट की तरफ से बनने वाले अस्पताल के लिए हर मुमकिन मदद दी जायेगी। मिस्टर सोरेन का दरगाह ट्रस्ट के सदर हाजी रउफ गद्दी, अफजल आलम, फारूख समेत दीगर की तरफ से इस्तकबाल किया गया और पगड़ी बांधी गयी। उन्हें उर्स के बाबत जानकारी दी गयी। उन्हें बताया गया कि कमेटी के अहम सरपरस्त रियासत के मुखिया ही होते है। वजीरे आला ने विजिटर रजिस्टर में अपनी मुबारकबाद भी दी। मिस्टर सोरेन के अलावा एसेम्बली सदर शंशाक शेखर भोक्ता ने भी चादरपोशी की।

TOPPOPULARRECENT