Thursday , October 19 2017
Home / India / छत्तीसगढ़ के बेस्तर इलाक़ा में नक़्सलाईटस मुख़ालिफ़ कार्यवाहीयां मुअत्तल

छत्तीसगढ़ के बेस्तर इलाक़ा में नक़्सलाईटस मुख़ालिफ़ कार्यवाहीयां मुअत्तल

छत्तीसगढ़ के बेस्तर इलाक़ा में नक़्सलाईटस के ख़िलाफ़ कार्यवाईयों को रोक दिया गया है। ये इक़दाम सुकमा ज़िला कलेक्टर के अग़वा के पेशे नज़र किया गया है। सरकारी ज़राए ने बताया कि रियास्ती हुकूमत ने मुख़ालिफ़ नक़्सलाईटस सरगर्मीयों में मसरूफ़

छत्तीसगढ़ के बेस्तर इलाक़ा में नक़्सलाईटस के ख़िलाफ़ कार्यवाईयों को रोक दिया गया है। ये इक़दाम सुकमा ज़िला कलेक्टर के अग़वा के पेशे नज़र किया गया है। सरकारी ज़राए ने बताया कि रियास्ती हुकूमत ने मुख़ालिफ़ नक़्सलाईटस सरगर्मीयों में मसरूफ़ स्कियोरिटी फोर्सेस से कहा कि जब तक ज़िला कलेक्टर मिस्टर एलेक्स पाल मेनन को रिहा नहीं किया जाता, उस वक़्त तक माविस्टों के ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई ना की जाए।

कहा गया कि ज़िला कलेक्टर की हिफ़ाज़त को यक़ीनी बनाने के मक़सद से ये फ़ैसला किया गया है। इस दौरान नक़्सलाईट्स से मुतास्सिरा रियास्तों में अग़वा के वाक़्यात में इज़ाफ़ा से पैदा होने वाली सूरत-ए-हाल के पेशे नज़र मर्कज़ ने इस से निमटने के यकसाँ तरीका-ए-कार की तदवीन के लिए तमाम रियास्तों से तआवुन तलब किया है।

इम्कान है कि वज़ारत-ए-दाख़िला की जानिब से तमाम रियास्तों को एक मकतूब रवाना करते हुए उन से राय तलब की जाएगी। सरकारी ज़राए ने बताया कि चूँकि नक़्सलाईटस से मुतास्सिरा रियास्तों में अग़वा के वाक़्यात बढ़ गए हैं, इस लिए तमाम वाक़्यात में यकसाँ तरीका-ए-कार इख्तेयार करने की ज़रूरत लाहक़ हुई है।

तमाम रियास्तों से इस सिलसिले में राय तलब की जा सकती है।

TOPPOPULARRECENT