Monday , August 21 2017
Home / Featured News / जज और वकील चाहें तो जल्द मिल सकता है इंसाफ: उपराष्ट्रपति

जज और वकील चाहें तो जल्द मिल सकता है इंसाफ: उपराष्ट्रपति

उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने लंबे मौखिक तर्क-वितर्कों के कारण न्यायिक फैसलों में होने वाली देर पर चिंता जताते हुए गुरुवार को कहा कि न्यायाधीश और अधिवक्ता समुदाय चाहे तो इन दिक्कतों को दूर किया जा सकता है। अंसारी ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के 150वें स्थापना वर्ष के सिलसिले में नवनिर्मित न्यायालय भवन में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि कुछ वक्त पहले एक पूर्व मुख्य न्यायाधीश ने न्याय में देरी के बारे में किए गए एक सवाल पर कहा था कि लंबे निर्णय, बार-बार होने वाले स्थगन और लम्बे समय तक होने वाले मौखिक तर्क-वितर्क की वजह से न्याय मिलने में देर होती है।
Karnataka-Highcourt-Coridor-HamidMohsin
उन्होंने कहा ‘मैं इस संबंध में कहना चाहता हूं कि इनमें से हर कारण दूर किया जा सकता है और अगर न्यायाधीश और अधिवक्ता समुदाय चाहे और प्रतिबद्ध हो तो इन सभी वजहों को दूर किया जा सकता है। पिछली पीढ़ियों में न्यायिक निर्णय संक्षिप्त और गूढ़ होते थे और कोई बड़ी वजह होने पर ही स्थगन की अनुमति दी जाती थी।

TOPPOPULARRECENT