Tuesday , October 17 2017
Home / India / जनतादल (यू) के तीन एमपी नाअहल क़रार दिए जाने से बच गए

जनतादल (यू) के तीन एमपी नाअहल क़रार दिए जाने से बच गए

नई दिल्ली । 6 जुलाई (पी टी आई) जनतादल (यूनाईटेड) के तीन अरकान-ए‍-पार्लियामेंट जिन्हें मुख़ालिफ़ पार्टी सरगर्मीयों का इल्ज़ाम है, नाअहल क़रार दिए जाने से बच गए। जब उनके ख़िलाफ़-ए-क़ानून इंसिदाद इन्हिराफ़ के तहत मुजव्वज़ा कार्रवाई से उनकी प

नई दिल्ली । 6 जुलाई (पी टी आई) जनतादल (यूनाईटेड) के तीन अरकान-ए‍-पार्लियामेंट जिन्हें मुख़ालिफ़ पार्टी सरगर्मीयों का इल्ज़ाम है, नाअहल क़रार दिए जाने से बच गए। जब उनके ख़िलाफ़-ए-क़ानून इंसिदाद इन्हिराफ़ के तहत मुजव्वज़ा कार्रवाई से उनकी पार्टी ने दसतबरदारी इख़तियार करली।

जे डी यू के रवैय्ये में तबदीली रियासत बिहार में नए सियासी तवाज़ुन का नतीजा है जो 16 जून को एन डी ए के साथ जे डी यू के तर्क-ए-ताल्लुक़ से पैदा हुआ है। जे डी यू की अपनी शिकायत से दसतबरदारी को क़बूल करते हुए स्पीकर लोक सभा मीरा कुमार ने इंसिदाद इन्हिराफ़ क़ानून के तहत तीनों अरकान-ए‍-पार्लियामेंट के ख़िलाफ़ मुजव्वज़ा कार्रवाई मंसूख़ करदी।

राजू रंजन सिंह लल्लन, सुशील सिंह और मंगनी लाल मंडल के ख़िलाफ़ जे डी यू ने स्पीकर लोक सभा मीरा कुमार से शिकायत करते हुए इंसिदाद इन्हिराफ़ क़ानून के तहत तीनों अरकान-ए‍-पार्लियामेंट के ख़िलाफ़ कार्रवाई की दरख़ास्त की थी। राजीव रंजन सिंह लल्लन बारसूख भूमी हार ज़ात से ताल्लुक़ रखते हैं और उनके चीफ़ मिनिस्टर बिहार नितीश कुमार के साथ इख़तिलाफ़ात पैदा होगए थे।

भूमी हार ज़ात बी जे पी की ताईद करने वाला सब से बड़ा तबक़ा है। सुशील कुमार सिंह भी एक और बारसूख ऊंची ज़ात के तबक़ा राजपूत से ताल्लुक़ रखते हैं। लोक सभा सेक्रेटरी को एक मकतूब रवाना करते हुए ए डी यू ने ख़ाहिश की कि उनकी पार्टी के तीनों अरकान-ए‍-पार्लियामेंट के ख़िलाफ़ शिकायत से पार्टी दसतबरदारी इख़तियार करती है। इस लिए उनके ख़िलाफ़ मुजव्वज़ा इंसिदाद इन्हिराफ़ क़ानून के तहत कार्रवाई मंसूख़ करदी जाये। इस पर स्पीकर लोक सभा मीरा कुमार ने दरख़ास्त क़बूल करते हुए कार्रवाई मंसूख़ करदी।

TOPPOPULARRECENT